govind singh dotasara 6797504 835x547 m शिक्षा मंत्री पर RAS परीक्षा में रिश्तेदारों को फायदा पहुंचाने के आरोप, विपक्ष ने मांगा इस्तीफा

राजस्थान में अब शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा विपक्ष के निशाने पर हैं। वजह है राजस्थान प्रशासनिक सेवा में उनके रिश्तेदारों का चयन होना। बीजेपी अब परीक्षा में हेर-फेर का आरोप लगा रही है।

शिक्षा मंत्री ने पहुंचाया रिश्तेदारों को फायदा?

राजस्थान में शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा के लिए बड़ी मुसीबत खड़ी हो गई है। डोटासरा के रिश्तेदारों का राजस्थान प्रशासनिक सेवा में चयन होने को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है। बीजेपी के नेता अब डोटासरा पर आरोपों की झड़ी लगाए हुए हैं। भारतीय जनता पार्टी के  नेता सुरेंद्र सिंह शेखावत ने शिक्षा मंत्री पर राजस्थान प्रशासनिक सेवा की परीक्षा में हेर-फेर करने का आरोप लगाते हुए इस्तीफा मांगा है। बीजेपी नेता का आरोप है कि डोटासरा के रिश्तेदारों के RAS की परीक्षा में समान अंक आए हैं।  डोटसरा की पुत्रवधु प्रतिभा पुनिया, उनके भाई गौरव पुनिया और बहन प्रभा पुनिया, तीनों को राज्य प्रशासनिक सेवा की परीक्षा में समान रूप से 80-80 फीसदी अंक मिलें हैं, वहीं लिखित परीक्षा में तीनों के प्राप्तांक 50 फीसदी से कम हैं।

परीक्षा में नंबर समान तो हुआ बवाल

एक ओर डोटासरा कि मुश्किलें बढ़नी शुरू हो गई हैं। तो दूसरी और बीजेपी की ओर से इस मुद्दे को जोरों से उछाला जा रहा है। बीजेपी नेताओं का कहना है कि तीनों भाई-बहनों की एक जैसी योग्यता ही मिसाल है। खास बात तो यह भी है कि आरएएस परीक्षा देने वाले गौरव और प्रभा के चौथे पेपर में नंबर कैसे समान हैं। अब इस मुद्दे को लेकर राजस्थान की राजनीति में घमासान मचा हुआ है। वहीं बीजेपी की ओर से डोटासरा के तीनों रिश्तेदारों के अलग-अलग अंक पत्र जारी किए हैं।

इंटरव्यू में तीनों रिश्तेदारों को मिले समान अंक

बीजेपी की ओर से जारी की गई लिस्ट में दिखाया गया है कि पहले पेपर में गौरव को 48.75 फीसदी अंक प्राप्त हुआ हैं। दूसरे पेपर में 41.25 फीसदी अंक, तीसरे पेपर में 50 फीसदी अंक मिले हैं, वहीं चौथे पेपर में 49.75 फीसदी अंक प्राप्त हुए हैं। लिखित में कुल अंक 47.44 फीसदी हैं, वहीं इंटरव्यू में 80 फीसदी अंक मिले। डोटासरा की पुत्रवधू प्रतिभा पुनिया को पहले पेपर में 46 फीसदी अंक मिले हैं। दूसरे पेपर में 48 प्रतिशत, तीसरे पेपर में 51 फीसदी अंक और चौथे पेपर में  56 फीसदी अंक मिले हैं। इंटरव्यू में इन्हें भी कुल 80 फीसदी नंबर मिले हैं। प्रभा के भी अंक पूरी तरह से मेल खा रहे हैं। प्रभा को पहले पेपर में 41 फीसदी अंक, दूसरे पेपर में 48 फीसदी अंक, तीसरे में 49.75 फीसदी अंक और लिखित में 45.81 फीसदी अंक मिले हैं. वहीं इंटरव्यू में प्रभा को भी 80 फीसदी अंक मिले हैं.

‘प्रतिभा के दम पर परीक्षा में पास हुए रिश्तेदार’

अब जब सियासत का पारा इस मामले को लेकर सातवें आसमान पर पहुंच गया था। तो शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा की भी जवाबदेही तो बनती थी। जब उन्सें इस मसले को लेकर पूछा गया तो उन्होंने आरोपों से साफ इंकार कर दिया और कहा कि उनका, राजस्थान लोक सेवा आयोग की ओर से जारी RAS के रिजल्ट से कोई लेना-देना नहीं है। शिक्षा मंत्री ने कहा है कि बहुत सारे लोगों को इंटरव्यू में 80 फीसदी अंक मिले हैं। मेरे जो रिश्तेदार परीक्षा में पास हुए हैं, वे अपने प्रतिभा के दम पर हुए हैं.

टाइगर के बढ़ते हमलों के बीच योगी सरकार का बड़ा कदम, कर रही ये काम

Previous article

‘बाबूजी’ की 12.5 फीट ऊंची प्रतिमा का हुआ अनावरण, पुण्यतिथि पर सभी ने दी श्रद्धांजलि

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured