मेरठ 3 जाने क्यों मेरठ जा रहे राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को पुलिस ने शहर के बाहर ही रोका

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों में मारे गए लोगों के परिजनों से मिलने मेरठ जा रहे कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को पुलिस ने शहर के बाहर ही रोक लिया. कांग्रेस नेताओं ने पुलिस से कहा कि वे केवल तीन लोग ही जाएंगे, लेकिन फिर भी पुलिस ने उन्हें शहर में नहीं जाने दिया गया. उन्हें मेरठ से बाहर परतापुर में रोक दिया गया. पुलिस ने उनसे कहा कि आप दो दिन के बाद आएं.इसके बाद राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वापस दिल्ली के लिए रवाना हो गए. इस पर राहुल गांधी ने कहा, “हमने पुलिस वालों से कहा कि आपके पास कोई order है? उन्होंने कोई order नहीं दिखाया पर कहा कि आप वापस जाइये.”

बता दें, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा रविवार को एक अनिर्धारित यात्रा करते हुए उत्तर प्रदेश के बिजनौर पहुंचीं थी, जहां उन्होंने नए नागरिकता कानून को लेकर हुई हिंसा में मारे गए दो लोगों के परिजनों से मुलाकात की. कांग्रेस सूत्रों ने कहा कि बिजनौर जिले के नहटौर क्षेत्र में वह गईं, जहां नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को लेकर हाल ही में हुई हिंसा में दो प्रदर्शनकारी मारे गए थे. वह वहां मारे गए अनस और सुलेमान के परिवार के लोगों से मिलीं. पुलिस की गोली से घायल हुए ओमराज सैनी का वर्तमान में मेरठ के एक अस्पताल में इलाज चल रहा है. कांग्रेस महासचिव उनके परिवार वालों से भी मिलीं.

वहीं, सोमवार को महात्मा गांधी के समाधि स्थल राजघाट पर कांग्रेस के सत्याग्रह में राहुल गांधी ने यह आरोप भी लगाया कि देश की उन्नति को नष्ट करने का जो काम भारत के दुश्मन भी नहीं कर पाए वो काम करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी पूरी ताकत लगा रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘देश एक आवाज होता है और आज हमने जो संविधान की प्रस्तावना पढ़ी है वो हिंदुस्तान की जनता की आवाज थी. इस आवाज ने अंग्रेजों को भारत से भगाया. प्यार और शांति से यह किया. उसी आवाज ने हिंदुस्तान की अर्थव्यवस्था को खड़ा किया और करोड़ों युवाओं को रोजगार दिया. इस आवाज के बिना हिंदुस्तान नहीं रह सकता.’

साथ ही राहुल गांधी ने आरोप लगाया, ‘देश के दुश्मनों ने कोशिश की कि इस आवाज को दबाया जाए, देश की उन्नति को नष्ट किया जाए और देश की अर्थव्यवस्था को भी नष्ट किया जाए. जनता ने लड़ाई लड़ी और दुश्मनों को रोका. जो काम देश के दुश्मन नहीं कर पाए वो काम करने के लिए नरेंद्र मोदी पूरा दम लगाकर कोशिश कर रहे हैं. नरेंद्र मोदी, आप कांग्रेस पार्टी से नहीं लड़ रहे हैं, आप देश की आवाज के खिलाफ खड़े हो गए हैं. मैं आपको और आपके मित्र अमित शाह को बताना चाहता हूं कि यह आवाज भारत माता की आवाज है. अगर आप इस भारत माता की आवाज को दबाने की कोशिश करेंगे तो भारत माता आपको जवाब देने जा रही है.’ इसके अलावा उन्होंने कहा, ‘देश की जनता आपको भारत माता की आवाज को दबाने नहीं देगी. संविधान में सभी धर्म के लोगों की आवाज है और आपको संविधान पर आक्रमण नहीं करने देगी।

Rani Naqvi
Rani Naqvi is a Journalist and Working with www.bharatkhabar.com, She is dedicated to Digital Media and working for real journalism.

    28 जनवरी से तीन चरणों में शुरू होगा त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव

    Previous article

    उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू दो दिवसीय दौरे पर जायेंगे रायपुर, भारतीय आर्थिक संघ के कार्यक्रम का करेंगे उद्घाटन

    Next article

    You may also like

    Comments

    Comments are closed.

    More in featured