पुलिस पर अधेड़ की पीटकर हत्या करने का आरोप

नई दिल्ली। यमुनापार के गोकुलपुरी इलाके में कारोबारी से हुए साढ़े चार लाख रुपये की लूट के आरोपी को पकड़ने गई पुलिस पर एक व्यक्ति की पिटाई कर उसे मारने का आरोप लगा है। परिजनों का आरोप है पुलिस की पिटाई से ही 55 वर्षीय मोहम्मद यासीन की मौत हो गई। पुलिस के अनुसार बाइक सवार तीन लड़कों ने शनिवार रात को भगीरथी विहार नाले के पास यमुना विहार निवासी कारोबारी प्रदीप कुमार से साढ़े चार लाख रुपये लूट लिए थे। पुलिस को घटनास्थल से बदमाशों की बाइक का नंबर मिला था। इसके आधार पर जांच करते हुए पुलिस मुस्तफाबाद स्थित गली नंबर-9 पहुंची। यह बाइक किसी महमूद नामक व्यक्ति के नाम पर थी। पुलिस को जांच के दौरान पता चला कि महमूद का लड़का जाकिर लूटपाट में शामिल है।

police
police

इसके बाद पुलिस ने महमूद से पूछताछ करने के लिए उसे गाड़ी में बैठा लिया। आरोप है कि महमूद के पड़ोसी गुलफाम ने महमूद को थाने ले जाने का विरोध किया। इस पर पुलिसकर्मियों ने उसे भी गाड़ी में बैठा लिया। वहीं, यह देख गुलफाम का साला मोमिन पुलिसकर्मियों से उलझने लगा। आरोप है कि पुलिसकर्मियों ने उसे भी गाड़ी में बैठा लिया। यह सारा घटनाक्रम मोहम्मद यासीन देख रहा था। उसने विरोध जताते हुए पुलिसकर्मियों से सभी को छोडऩे के लिए कहा। उसका कहना था कि जब आरोपी जाकिर है तो बाकी सब को क्यों थाने ले जाया जा रहा है।

आरोप है कि यासीन के विरोध करने पर पुलिसकर्मी भड़क गए। उन्होंने यासीन को बुरी तरह से पीटना शुरू कर दिया। एक रिश्तेदार रहीसुद्दीन ने बताया कि पुलिसकर्मियों ने उसे लात और घूंसे मारे जिससे वह अचेत हो गया। इसके बाद सभी पुलिसकर्मी महमूद, गुलफाम और मोमिन को लेकर चले गए। यासीन को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मामले की सूचना मिलते ही एसीपी, डीसीपी समेत सभी वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंच गए।

मामले में जिले के पुलिस अधिकारी यासीन की पिटाई की बात से इनकार कर रहे हैं। उनका कहना है कि उसकी मौत हार्ट अटैक से हुई है। बहरहाल, गोकुलपुरी पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मेडिकल बोर्ड के गठन की मांग की है। शव का पोस्टमार्टम सोमवार को किया जाएगा। उसके बाद ही मौत के सही कारणों का पता चल पाएगा। वहीं, जिले वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने कार्रवाई करते हुए गोकुलपुरी थाने के हेडकांस्टेल नेमपाल को सस्पेंड कर दिया है।

मूलरूप से यूपी के बागपत-बड़ौत स्थित गांव शाहपुर निवासी के परिवार में पत्नी जमीला, आठ बेटे व दो बेटी हैं। यासीन की बेटी मोहसिना अपने पति के साथ गली नंबर-9 पुराना मुस्तफाबाद में रहती है। यासीन उससे मिलने के लिए चार दिन पूर्व ही गांव से आया हुआ था। यहीं, पड़ोस में उनका बेटा मोमिन भी रहता है। मोमिन ने शनिवार रात को अपने जीजा गुलफाम को ले जाने का पुलिस से विरोध किया था, जिसके बाद सारा बवाल हुआ।