featured यूपी

मिर्जापुर: मरने के 30 साल बाद जिंदा मिला व्यक्ति, बेटा कर चुका था पिंडदान, पढ़ें पूरा मामला

मिर्जापुर: मरने के 30 साल बाद जिंदा मिला व्यक्ति, बेटा कर चुका था पिंडदान, पढ़ें पूरा मामला

मिर्जापुर: मृत्यु मनुष्य के जीवन का सबसे बड़ा सत्य है और इसको ना जान पाना सबसे बड़ा असत्य। कोई भी मरने के बाद कभी वापस नहीं आता यह बात हम सब जानते है। मिर्जापुर में एक बेटा अपने पिता का पिंडदान कर चुका था। फिर अचानक मौत के इतने लंबे समय के बाद यह व्यक्ति हरियाणा में जिंदा मिला है। इस खबर पर आपकों यकीन नहीं हो रहा होगा पर यह सच है। आज एक बेटे को अपने मर चुके पिता से दोबारा मिलने का मौका मिला है।

अचनाक गायब हुए थे रोहित

मिर्जापुर के जिगना क्षेत्र के बिजरकला गांव निवासी 30 साल बाद हरियाणा में यमुनानगर के एक आश्रम में मिले। सूचना पर पहुंचे परिजन इस बात पर विश्वास नहीं कर पा रहे थे पर यह हकीकत थी। पिता की जानकारी होने पर बेटा अपने पिता को लेने पहुंचा।

क्या था मामला

रोहित तीन भाइयों में मझले भाई थे। रोहित रेलवे में गैंग मैन थे। 30 साल की उम्र में दिमागी हालत ठीक ना होने पर वह काम छोडकर चले गए थे। काफी खोजबीन करने के बाद भी रोहित का पता नहीं चला। लंब समय तक रोहित का पता नहीं चलने पर बेटे ने उन्हे मरा समझकर पिंडदान कर दिया।

आश्रम संचालक ने की मदद

रोहित 2021 में शाहबाद के नी आसरे दा आसरा आश्रम के संचालक से मिले। मानसिक स्थिति सही नहीं होने पर रोहित का आश्रम में ही इलाज किय गया। रोहित की हालत कुछ ठीक होने पर स्टेट क्राइम ब्रांच पंचकूला टैफिकिंग सेल से मिलाया गया। रोहित ने जानकारी देते हुए गांव का नाम बिजरकला बताया।

पुलिस ने पिता की जानकारी दी

पुलिस ने इस गांव की जानकारी जुटानी शुरू की। गांव के प्रधान से बात की गई तो पता चला रोहित काफी समय पहले लापता हो गए थे। बेटे की जानकारी लेकर वीडियो कॉल कराई गई तब पहचान कंफर्म होने के बाद पूरा मामला सुलझ गया। रोहित का बेटा अपने पिता को लेने के लिए हरियाणा पहुंचा। पिता को दोबारा जिंदा देखकर बेटे के आसूं नहीं रुक रहे।

Related posts

जो प्रभु श्री राम का नहीं वो किसी काम का नहीं : कटियार

kumari ashu

अशोक v/s सचिन आज से नहीं बल्कि पुराने दुश्मन हैं दोनों…

Mamta Gautam

परिवारवाद पर खुद को घिरता देख राहुल ने गिनाए अंबानी-अभिषेक के नाम

Pradeep sharma