यूपी के कई जिलों के बाद अब मेरठ में भी लगाया गया नाइट कर्फ्यू, जानिए क्या होगा बदलाव

मेरठ: यूपी के विभिन्न जिलों में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए मेरठ में भी नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। मेरठ में 18 अप्रैल तक रात्रिकालीन कर्फ्यू की घोषणा की गई है। मेरठ में आज रात दस बजे से लेकर सुबह पांच बजे तक नाइट कर्फ्यू रहेगा।

स्कूल-कॉलेज 18 अप्रैल तक रहेंगे बंद

इसके अतिरिक्त अतिआवश्यक कार्यों को छोड़कर सारी गतिविधियों पर रोक रहेगी। वहीं स्कूल, कॉलेज और कोचिंग सेंटर 18 अप्रैल तक बंद रहेंगे।

इसके अलावा स्कूल और कालेज में चल रहीं परीक्षाएं यथावत चलती रहेंगी और स्कूलों और कालेजों में टीचर्स और स्टाफ को बुलाने के लिए अब बीएसए, डीआईओएस और उच्च शिक्षा अधिकारी से अनुमति लेनी होगी। ये आदेश जिलाधिकारी के. बाजाजी ने जारी किए हैं।

कोरोना ब्लास्ट ने किया मजबूर

बता दें कि जिले में कोरोना के कहर को देखते हुए विभिन्न जिलों में नाइट कर्फ्यू लगाने पर कई दिनों से विचार चल रहा था। यूपी के बड़े शहरों में जैसे ही कोरोना का ब्लास्ट हुआ, शासन और प्रशासन नाइट कर्फ्यू लगाने पर मजबूत हो गया।

गौरतलब है कि मेरठ में जिलाधिकारी के. बालाजी ने रात्रिकालीन कर्फ्यू लगाने के लिए गुरुवार को प्रशासनिक अधिकारियों और पुलिस की एक बैठक बुलाई थी। इस बैठक में कोरोना की रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला लिया गया।

सीएम योगी ने दिए थे निर्देश

दरअसल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी के विभिन्न शहरों में कोरोना के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए एक निर्देश जारी किया था।

वीडियो कांफ्रेंसिंग के द्वारा दिए गए निर्देश में सीएम योगी ने साफ कह दिया था कि जिन इलाकों में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है उन जिलों के डीएम नाइट कर्फ्यू को लेकर अपने स्तर से निर्णय ले सकते हैं।

इसके लिए सीएम योगी ने जिलाधिकारियों को नाइट कर्फ्यू लगाने के लिए अधिकृत कर दिया था। उन्होंने कहा था कि जिन जिलों में पांच सौ से ज्यादा केस हैं और जहां रोज सौ मामले सामने आ रहे हैं वहां नाइट कर्फ्यू पर जिलाधिकारी विचार कर सकते हैं।

इम्‍युनिटी की मजबूती के लिए इस दवा को वितरित करने की दी सलाह

Previous article

वाराणसी होगा महिलाओं के लिए सेफ सिटी, तैयार हुआ प्‍लान

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured