featured देश राज्य

आप को लगा झटका, रद्द हुई 20 विधायकों की सदस्यता, राष्ट्रपति ने दी मंजूरी

aap

नई दिल्ली। दिल्ली की सत्ता पर काबिज आप को बड़ा झटका लगा है। ऑफिस ऑफ प्रॉफिट के मामले में ‘आप’ के 20 विधायकों की सदस्यता रद हो गई है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने चुनाव आयोग के फैसले को मंजूरी दे दी है। बीते शुक्रवार को चुनाव आयोग ने राष्ट्रपति से सिफारिश की थी 20 विधायकों को अयोग्य घोषित किया जाए। चुनाव आयोग का मानना था कि ‘आप’ के विधायक ‘ऑफिस ऑफ प्रॉफिट’ के दायरे में आते हैं।

aap
aap

बता दें कि इससे पहले 20 विधायकों को चुनाव आयोग द्वारा अयोग्य घोषित किए जाने की खबरों के बाद आप ने आयोग की प्रक्रिया पर ही सवाल उठा दिए थे। पार्टी के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा था कि कोई भी विधायक लाभ के पद पर नहीं था। ना किसी के पास गाड़ी थी, ना बंगला था ना ही किसी को एक रुपया सैलरी दी गई। सौरभ ने यह भी कहा था कि किसी के पास इस बात का प्रमाण नहीं है न ही कोई बैंक ट्रांजेक्शन ही ये दिखाता है कोई पैसा लिया या फिर दिया गया। यह कैसे लाभ का पद हो सकता है।

वहीं भारतीय जनता पार्टी ने भी चुनाव आयोग के इस फैसले पर अपनी प्रतिक्रिया दी थी। पूर्व दिल्ली भाजपा अध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने कहा कि जनता को ‘आप’ का भ्रष्टाचार दिख रहा है। सरकार का भ्रष्टाचार बेनकाब हुआ है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को अब पद पर बने रहने का कोई औचित्य नहीं रह गया है। कांग्रेस की शर्मिष्ठा मुखर्जी ने चुनाव आयोग की सिफारिश का स्वागत करते हुए इसे आप द्वारा किया गया गैर कानूनी काम करार दिया था। कांग्रेस के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन ने कहा था कि नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इन विधायकों को इस्तीफा दे देना चाहिए। माकन ने केजरीवाल के इस्तीफे की मांग भी की थी।

Related posts

पंजाब से मंगलवार को अब तक पांच ट्रेनों में करीब 6000 श्रमिकों को उनके राज्‍य रवाना किया गया

Shubham Gupta

नकली जर्मन पासपोर्ट के साथ यात्रा करने वाले भारतीय ने अमेरिका में प्रवेश से इनकार कर दिया

bharatkhabar

अल्मोड़ा की ऐतिहासिक मां नंदादेवी के पौराणिक मेला का हुआ शुभारंभ

Neetu Rajbhar