January 25, 2022 8:06 am
featured राजस्थान

दक्षिण शक्ति’ युद्धाभ्यास का सफलता पूर्ण समापन, 30 हजार जवानों ने लिया भाग

Screenshot 471 दक्षिण शक्ति' युद्धाभ्यास का सफलता पूर्ण समापन, 30 हजार जवानों ने लिया भाग

Naresh Jaisalmer दक्षिण शक्ति' युद्धाभ्यास का सफलता पूर्ण समापन, 30 हजार जवानों ने लिया भाग नरेश सोनी, जैसलमेर

जैसलमेर की धरा पर शौर्य को धार दिया गया। भारत पाकिस्तान सीमा से सटे राजस्थान के रेतीले धोरों में तीन माह से चल रहे भारतीय सेना के अब तक का सबसे बड़े युद्धाभ्यास दक्षिण शक्ति आज शुक्रवार को सफलतापूर्वक सम्पन्न हुआ। थल सेनाध्यक्ष मनोज मुकुंद नरवणे व दक्षिण कमान वायुसेना के कमाण्डेड इन चीफ एयर मार्शल विक्रम सिंह दक्षिण शक्ति युद्धाभ्यास के साक्षी बने।

Screenshot 471 दक्षिण शक्ति' युद्धाभ्यास का सफलता पूर्ण समापन, 30 हजार जवानों ने लिया भाग

इस दक्षिण शक्ति नामक इस युद्धाभ्यास के एयरबोर्न ऑपरेशन में एयरक्राफ्ट सी – 130 , सी – 70 , एएन – 32 से पैराट्रूपर्स, पैराशूट बैटल ग्रुप, एयर डिफेन्स गन, जिप्सी, मोबाइल टीम, मेडिकल सर्जिकल टीम, एन्टी टैंक गाइडेड वेपन को एयर क्राफ्ट से ड्रॉप किया गया। वहीं, T – 72 व T – 90 टैंक का भी इस युद्धाभ्यास में उपयोग किया गया। पहली बार मानव रहित व मानव युक्त रूप से युद्धाभ्यास किया गया। समय के साथ युद्ध की बदलती रणनीति को लेकर भारतीय सेना अपडेट हो रही है।

Screenshot 468 दक्षिण शक्ति' युद्धाभ्यास का सफलता पूर्ण समापन, 30 हजार जवानों ने लिया भाग

400 पैराट्रूपर्स ने 10 हजार फीट की ऊँचाई से लगाई छलांग

इस युद्धाभ्यास में एयरक्राफ्ट सी – 130, सी – 70, एएन – 32 से पैराट्रूपर्स को ड्रॉप किया गया। लगभग  400 से अधिक पैराटूपर्स ने 10 हजार फीट की ऊंचाई से एक साथ पैरा जंप की। पैराट्रूपर्स ने पैराशूट खुलने के बाद अपनी- अपनी पोजिशन ली और फिर युद्ध के मैदान में अपने युद्ध कौशल का प्रदर्शन किया।

Screenshot 473 दक्षिण शक्ति' युद्धाभ्यास का सफलता पूर्ण समापन, 30 हजार जवानों ने लिया भाग

ये पहला मौका है जब पाकिस्तान से सटी सीमा पर नई टेक्नोलॉजी से वॉर एक्सरसाइज की जा रही है। भविष्य के युद्ध परमाणु शक्ति से लैस देशों के बीच कम समय में और सीमित स्थान पर लड़े जा सकते हैं। ऐसे में उनमें इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप यानी IBG टीम को भी अभ्यास में शामिल किया। सभी IBG को मिशन, खतरे और इलाके के हिसाब से गठित किया गया। इंटीग्रेटेड बैटल ग्रुप में सेना, थलसेना और वायुसेना के माहिर जवान शामिल हुए।

Screenshot 476 दक्षिण शक्ति' युद्धाभ्यास का सफलता पूर्ण समापन, 30 हजार जवानों ने लिया भाग

इस ग्रुप में टैंक, तोप, इंजीनियर्स, लॉजिस्टिक, सपोर्ट यूनिट भी मौजूद रही। अब तक ये सब अलग-अलग यूनिट के तौर पर तैनात हैं। युद्ध के वक्त एक साथ आते हैं, लेकिन अब सबको मिलाकर छोटा और मारक ग्रुप बनाने के बाद अब इनका युद्धाभ्यास हुआ है। इसका सिचुएशनल ट्रायल भी किया गया है।इस वॉर एक्सरसाइज में आर्मी, नेवी, एयरफोर्स के अलावा कोस्ट गार्ड, BSF, पुलिस और दूसरी इंटेलिजेंस एजेंसियां शामिल हुए और इन सबके बीच तालमेल को परखा गया है।

Related posts

कर्नाटक चुनाव: बीजेपी के दो बार के विधायक का प्रचार के दौरान निधन

lucknow bureua

मुख्‍तार अंसारी को यूपी लाने के फैसले का कांग्रेस नेता ने किया स्‍वागत, कही ये बात  

Shailendra Singh

हाईकोर्ट ने सुनाया अहम फैसला, कहा- पत्नी बेईमान या फिर व्यभिचारी है या नहीं, DNA सबसे वैध तरीका

Trinath Mishra