featured भारत खबर विशेष यूपी

MSME 2021: सरकार के प्रयास के बाद भी हमारे पास इंफ्रास्ट्रक्चर की कमीं-अशोक कुमार छारिया

MSME 2021: सरकार के प्रयास के बाद भी हमारे पास इंफ्रास्ट्रक्चर की कमीं-अशोक कुमार छारिया

LUCKNOW: MSME 2021 आज पूरे विश्व में मनाया जा रहा है। ऐसे में हमने आज IIA वाइक प्रेसिडेंट अशोक कुमार छारिया से बात की, हमने अशोक कुमार छारिया से मौजूदा उद्योग की स्थिति जानने की कोशिश की।

हमें बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर की जरुरत

जब हमने अशोक कुमार छारिया से बात की तो उन्होंने कहा हमें बेहरत इंफ्रास्ट्रक्चर की जरूरत है। सरकार के अथक प्रयासों के बाद भी हमें एक बेहतर इंस्ट्राचर नहीं मिल पा रहा है। आज उद्योंगकर्मियों के सामने कई तरह की समस्या है। सरकार तो बेहतर योजना और सुविधा देने की कोशिश कर रही है लेकिन फिर भी उद्योग कर्मयों के सामने दिक्कते कम नहीं है।

बिजली का संकट भी गंभीर समस्या

अशोक कुमार छारिया ने कहा उद्योग पतियों के सामने बिजली का संकट बड़ा है। नए कनेक्शन लेने के लिए पहले हमें छूट दी जाती थी लेकिन कोरोना के बाद हमें इसमें कोई राहत नहीं दी गई है। सरकार की योजनाएं तो काफी अच्छी है। लेकिन उसका प्रोसेसस इतना लंबा है कि ना चाहते हुए भी उद्योग पतियों को भ्रष्टाचार का शिकार होना पड़ता है।

पेय जल और निकासी जल की समस्या

अशोक कुमार छारिया ने आगे जानकारी देते हुए कहा जल निकासी और पेय जल की दिक्कते काफी लंबे समय से है। खासकर जल निकसी की समस्या। इसपर कई बार शिकायते करने के बाद भी सुनवाई नहीं होती है। पेय जल की परेशानी भी हमें काफी समय से देखने को मिल रही है। कई बार शिकायतें करने पर भी कोई सुनवाई नहीं हुई है।

सरकार की योजनाएं बेहतर

हम सरकार से उम्मीद करते है कि वह योजनाओं के साथ उनके अमल करने पर थोड़ा ध्यान दे ताकि यह सुविधाएं उद्मियों को आसानी से मिल सकें। उद्यिमों को सरकारी ऑफिसों के चक्कर ना लगाने पड़े। बिजली और पानी की समस्या दिन पर दिन बड़त जा रही है। अगर सरकार बिजली के कनेक्शन पर हमें रियायत देगी तो हम कुछ बेहतर करने की स्थिति में होगे। आखिर में सरकार की योजनाएं उद्मियों के हित में ही है।

Related posts

नोएडा पुलिस को इस अच्छे काम के लिए मिला सम्मान, 21 जवानों को मिले 5 लाख

Aditya Mishra

क्या आप जानते हैं मंदिरा के बारें में कुछ यें बातें

mohini kushwaha

अब आयुष मंत्री श्रीपद नाइक को हुआ कोरोना, जानिए अचानक नेताओं पर क्यों टूट रही आफत..

Rozy Ali