मैन्यूफैक्चरिंग इंवेस्टर्स समिट प्रदेश की आर्थिक विकास की दिशा में मील का पत्थर साबित होगी: मदन कौशिक

मैन्यूफैक्चरिंग इंवेस्टर्स समिट प्रदेश की आर्थिक विकास की दिशा में मील का पत्थर साबित होगी: मदन कौशिक

देहरादून। मैन्यूफैक्चरिंग इंवेस्टर्स समिट विषयक गोष्ठी में शहरी विकास मंत्री/शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक ने कहा कि उत्तराखण्ड में छोटी छोटी ईकाइयों एवं उत्पादों के माध्यम से रोजगार सृजन, औद्योगिक विस्तार के माध्यम से प्रदेश की आर्थिक विकास की दिशा में मील का पत्थर साबित होगी। उन्होंने कहा कि देश विदेश के उद्योपतियों का रूझान प्रदेश की ओर बढ़ा है, यह हमारे लिये शुभ संकेत है। उन्होंने कहा कि फूड प्रोसेसिंग के अलावा ई-रिक्शा व अन्य छोटे-छोटे कुटीर उद्योगों में निवेश की सम्भावनाएं है।

उत्तराखण्ड में उद्योग स्थापित करने के लिए अनुकूल वातावरण है

कौशिक ने कहा कि उत्तराखण्ड में उद्योग स्थापित करने के लिए अनुकूल वातावरण है। प्रदेश सरकार द्वारा उद्योगपतियों को उद्योग स्थापित करने के लिये हर सम्भव सहायता की जा रही है। उन्होंने कहा कि उद्योगपतियों के हितों को ध्यान में रखते हुए 10 पॉलिसियां बनाई गई है। कौशिक ने बताया कि प्रदेश में पीरूल नीति, पर्यटन नीति, आयुष नीति, बायोटेक्नालाजी नीति आदि बनाई गई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में उद्योग स्थापित करने के लिये उद्योगपतियों हेतु सिंगल विंडो सिस्टम लागू किया गया है। नीतियों में उद्योगपतियों को जहां परेशानी होगी, उद्योगपतियों से विचार-विमर्श कर नीतियों में संशोधन किया जायेगा।

24 घंटे बिजली मुहैया कराने के लिए प्रयास किये जा रहे है

प्रदेश में उद्योगों को 24 घंटे बिजली मुहैया कराने के लिए प्रयास किये जा रहे है। प्रदेश में सड़क, बिजली आपूर्ति, हवाई सेवाएं आदि सुविधाओं का विकास किया जा रहा है। रूद्रपुर में बाईपास बनाने हेतु सर्वे किया जा रहा है। हरिद्वार में बाईपास बनाने हेतु डीपीआर बनायी जा रही है। फार्मास्यूटिकल्स के क्षेत्र में भी प्रदेश में अपार संभावनाएं है। वर्तमान में 300 से अधिक छोटी-बडी इकाईयां राज्य में स्थापित है। जिनमें एक लाख से अधिक लोगों को रोजगार दिया जा रहा है।

उत्तराखण्ड इन्वेस्टर्स मीट का आयोजन किया गया

वीडियो के माध्यम से नई दिल्ली से केन्द्रीय मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि उत्तराखण्ड राज्य में निवेश करने के उददेश्य से उत्तराखण्ड द्वारा निवेशकों को निवेश की जानकारी देने के लिये उत्तराखण्ड इन्वेस्टर्स मीट का आयोजन किया गया है। उन्होंने कहा कि देश में प्रथम बार यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा इस प्रकार की पहल की शुरूआत की गई थी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब से ही उनका मानना है कि जब तक राज्य प्रगतिशील नही बनते है, तब तक देश प्रगति के रास्ते पर नही चल सकता है। उन्होंने प्रदेश में उद्योगों के अस्थापना में केन्द्र सरकार द्वारा हर संभव मदद देने का आश्वासन भी दिया।

निदेशक उद्योग सुधीर नौटियाल ने भी अपने विचार व्यक्त किये

इस अवसर पर कार्यकारी निदेशक जेबीएम ग्रुप निशांत आर्य, कार्यकारी निदेशक हीरो मोटो काॉप विक्रम कसबेकर, चैयरमेन व प्रबंध डॉयरेक्टर एन.के.मिंडा, सीआईआई नार्थ रिजन एंड मैनेजिंग डायरेक्टर वर्धमान स्पेशल स्टील प्रा.लि. सचित जैन, निदेशक उद्योग सुधीर नौटियाल ने भी अपने विचार व्यक्त किये।