एलजी ने लौटाई पूर्व सैनिक रामकिशन के मुआवजे की फाइल

नई दिल्ली। वन रैंक वन पेंशन की मांग को लेकर गत वर्ष नवंबर में जंतर-मंतर पर आत्महत्या करने वाले पूर्व सैनिक रामकिशन ग्रेवाल को एक करोड़ का मुआवजा दिये जाने से संबंधी फाइल उपराज्यपाल अनिल बैजल ने लौटा दी है। इस संबंध में उपराज्यपाल सचिवालय के सूत्रों ने बताया कि रामकिशन ग्रेवाल दिल्ली के नहीं बल्कि हरियाणा के नागरिक हैं। इसीलिए उन्हें दिल्ली सरकार की नीति के तहत एक करोड़ का मुआवजा नहीं मिल सकता।

इस मुददे पर दिल्ली के जल एवं संस्कृति मंत्री कपिल मिश्रा ने ट्वीट कर कहा कि कहा कि जब देश के किसी खिलाड़ी को सम्मान मिल सकता है तो सेना एवं सैनिकों के सम्मान की लड़ाई लड़ने वाले को सम्मान दिये जाने में क्या दिक्कत है। मिश्रा ने सवाल पूछा कि आखिर रामकिशन को एक करोड़ का मुआवजा रुकवाने के पीछे कौन है। जानकारी हो कि सत्ता में आने के बाद दिल्ली की आप सरकार ने दिल्ली के निवासी सैनिक, पुलिस एवं पैरामिलिट्री के जवान की ड्यूटी के दौरान मृत्यु होने पर उसके परिजनों को एक करोड़ का मुआवजा देने की पॉलिसी बनायी थी।​ जिसके तहत ड्यूटी पर मारे गये कई पुलिसकर्मी एवं जवानों के परिजनों को एक करोड़ रुपये का मुआवजा दिया गया था।