देश

जेएनयू विवाद: एबीवीपी के अज्ञात छात्रों के खिलाफ FIR दर्ज, जानिए क्या है पूरा मामला

WhatsApp Image 2022 04 10 at 8.49.29 PM जेएनयू विवाद: एबीवीपी के अज्ञात छात्रों के खिलाफ FIR दर्ज, जानिए क्या है पूरा मामला

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय(जेएनयू) के कावेरी हॉस्टल रविवार को छात्रों में नॉनवेज खाने और रामनवमी की पूजा को लेकर हिंसक झड़प हुई, जिसमें एबीवीपी और लेफ्ट संगठनों के 10 से ज्यादा छात्र घायल हो गए। दक्षिण-पश्चिम जिला के डीसीपी  मनोज ने बताया कि इस मामले में वसंत कुंज थाने में शिकायत दर्ज की गई है।

छात्रों का कहना है कि दोपहर के समय हुई घटना के बाद पर जेएनयू में पुलिस पहुंच गई थी लेकिन इसके बावजूद रात को छात्रों में झड़प हुईं। इसे देखते हुए रात को अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की गई। जेएनयू प्रशासन के अनुरोध पर पुलिस कैंपस में आई है। घायलों को एंबुलेंस से अस्पताल भेज दिया गया है।

WhatsApp Image 2022 04 10 at 8.48.53 PM जेएनयू विवाद: एबीवीपी के अज्ञात छात्रों के खिलाफ FIR दर्ज, जानिए क्या है पूरा मामला

अनुशासनहीनता को नहीं किया जाएगा बर्दाश्त: जेएनयू प्रशासन
जेएनयू छात्र संगठन ने पूरे मामले की शिकायत जेएनयू प्रशासन से की है। जेएनयू प्रशासन का कहना है कि पूरे मामले की जांच की जा रही जी और ऐसी किसी भी अनुशासनहीनता को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि किसी के पहनावे पर, खाने पर और आस्था पर कोई रोक-टोक नहीं की जा सकती है। सभी छात्र अपने हिसाब से अपने धर्म का पालन करते हैं। मेस स्टूडेंट कमेटी चलाती है और वही मेन्यू भी तय करती है।

अज्ञात एबीवीपी छात्रों के खिलाफ मामला दर्ज
यह एफआईआर जेएनयूएसयू, एसएफआई, डीएसएफ और आईसा की तरफ से आज सुबह ही मिली है, जिसमें अज्ञात एबीवीपी छात्रों के खिलाफ आईपीसी की धारा 323/341/509/506/34 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस का कहना है कि मामले में तथ्य और वैज्ञानिक सबूत जुटाकर जांच की जा रही है। वहीं इस मामले में एबीवीपी के छात्र भी आज शिकायत दर्ज कराएंगे। शिकायत मिलने पर उचित वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

ये है पूरा विवाद

  • कावेरी हॉस्टल में कुछ छात्रों ने नवरात्र के अंतिम दिन रविवार को रामनवमी पूजा और हवन का आयोजन किया था। हवन का समय साढ़े तीन बजे का था। वहीं, कुछ छात्रों ने हॉस्टल में ही शाम 5 बजे के बाद रोजा खोलने के लिए इफ्तार पार्टी रखी थी, जिसका आयोजन शाम पांच बजे के बाद होना था।
  • कावेरी हॉस्टल कमेटी और छात्रों ने आपसी सहमति से एक साथ आयोजन का फैसला लिया था। रामनवमी की पूजा के समय हॉस्टल में बाहरी छात्र यानी की अन्य हॉस्टल के छात्र भी आ गए। इसी बीच करीब साढ़े चार के बाद रामनवमी की पूजा शुरू हुई।
  • पूजा चल ही रही थी कि दूसरी ओर सामने इफ्तार पार्टी की तैयारी शुरू हो गई। इस इफ्तार पार्टी के लिए नॉनवेज भी रखा गया था। इस पर कुछ छात्रों ने आपत्ति की। उनका कहना था कि रामनवमी की पूजा चल रही है और नवरात्र का आखिरी दिन है, इसलिए हॉस्टल मेस के मेन्यू में नॉन-वेज को शामिल नहीं किया जाना चाहिए।
  • कावेरी हॉस्टल के ही दोनों पक्षों के छात्रों में अभी नॉनवेज हटाने पर बात हो रही थी कि अचानक पथराव शुरू हो गया। इतने में जेएनयू के अन्य हॉस्टल और कावेरी हॉस्टल के छात्र आपस में उलझ गए और विवाद मारपीट तक पहुंच गया।

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल
जेएनयू में मारपीट की घटना के बाद दोनों पक्षों ने सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल किए हैं। उन्होंने एक दूसरे पर घटना के लिए आरोप लगाया है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद और वाम संगठनों के नेताओं ने भी सोशल मीडिया पर घटना के बारे में बताया।

लगातार हो रही हैं परिसर में घटनाएं
14 नवंबर 2021 में भी एसएफआई और एबीवीपी के बीच मारपीट हुई थी 3 छात्र घायल हुए थे। 5 जनवरी 2020 को इस तरह की मारपीट हुई थी। सीएए वाले मैटर को लेकर बाहरी लोग कैंपस में घुसे थे। इससे पहले अक्टूबर 2017 में दोनों पक्षो में झेलम हॉस्टल में मारपीट हुई थी।

Related posts

बुलंदशहर हिंसा को सीएम योगी ने बताया राजनीतिक षड्यंत्र

Ankit Tripathi

सेना कमांडर सम्मेलन: राजनाथ ने भरा सेना के अधिकारियों में दम

Trinath Mishra

सोशल मीडिया पर भड़के धोनी के प्रशंसक

kumari ashu