download इमरान सरकार पर मंडराया खतरा, मरयम नवाज़ शरीफ ने 'नो कांफिडेंस मोशन' लाने का किया ऐलान

पाकिस्तान – पाकिस्तान सरकार में बड़ा उलटफ़ेर होता नज़र आ रहा है, क्योंकि हाल ही में हुए सीनेट चुनाव में यूसुफ रज़ा गिलानी की जीत हुई है। जिसके चलते यूसुफ रज़ा गिलानी और मरयम नवाज़ शरीफ ने पाकिस्तान की नेशनल एसेंबली में इमरान सरकार के खिलाफ नो कांफिडेंस मोशन लाने का ऐलान कर दिया है।

गिलानी की जीत इमरान सरकार के लिए बनी चिंता का विषय –
पाकिस्तान की सियासत में एक बार फिर फेरबदल होने वाला है, ऐसा फेरबदल जिसकी वजह से इमरान सरकार खतरे में पड़ सकती है। बता दे कि पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री और पीपीपी के वरिष्ठ नेता यूसुफ रज़ा गिलानी इस्लामाबाद से सीनेट चुनाव 169 वोटों के साथ जीत गए। पाकिस्तान में ऊपरी सदन यानि सीनेट की 37 सीटों के लिए चुनाव हुए थे और बुधवार को आए नतीजे अपने साथ बड़ा उलटफेर भी लेकर आए है।

डॉक्टर शेख को युसूफ रजा गिलानी ने दी शिकस्त –
इमरान के कैबिनेट मंत्री डॉक्टर शेख को, पीपीपी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे पूर्व प्रधानमंत्री युसूफ रजा गिलानी ने हरा दिया। इस्लामाबाद में सीनेटर चुनने के लिए हुए मतदान में कुल 340 वोट पड़े थे। डॉक्टर शेख को सिर्फ 164 वोट मिले, जबकि गिलानी के समर्थन में 169 वोट पड़े। सात वोटों को अवैध करार दिया गया गया। दिलचस्प बात ये है कि PTI के 9 सांसदों ने गिलानी के पक्ष में क्रॉस वोटिंग की। जिसकी बदौलत गिलानी जीत गए। आपको बता दें कि चुनाव पाकिस्तान की नेशनल एसेंबली का नहीं बल्कि सीनेट का था मगर इस्लामाबाद सीनेट के चुनाव में नेशनल एसेंबली के सदस्य हीं वोट करते है। आपको बता दें कि काफी समय से यह चर्चा चल रही है कि इमरान सरकार में विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी, फवाद चौधरी और परवेज़ खट्टर खुद प्रधानमंत्री बनने के ख्वाब देख रहे है।

बिलावल भुट्टो ज़रदारी ने की इमरान के इस्तीफे की मांग –
बताया जा रहा है कि गिलानी की जीत के साथ हीं विरोधी दलों के मोर्चे PDM के नेता मरयम नवाज़ शरीफ और बिलावल भुट्टो ज़रदारी ने इमरान खान पर हमला बोल दिया है। मरयम नवाज़ शरीफ ने पाकिस्तान की नेशनल एसेंबली में इमरान सरकार के खिलाफ नो कांफिडेंस मोशन लाने का ऐलान कर दिया है जिस पर फैसला 11 दलों के मोर्चे PDM की बैठक में होगा तो वहीं बिलावल भुट्टो ज़रदारी ने गिलानी की इस जीत के बाद इमरान खान के इस्तीफे की मांग कर दी है। उधर इमरान खान की पार्टी ने यह फैसला किया है कि अगर वह संसद में अविश्वास प्रस्ताव में सफल नहीं होता है तो वे एसेंबली को भंग देंगे और फिर से चुनाव कराएंगे। साथ ही आपको अवगत करा दे कि पाकिस्तान की नेशनल एसेंबली में कुल 342 सीटें है जिनमें से 272 चुन के आते है और बाकी मनोनीत होते है। ऐसे में अगर नो कांफिडेंस में विपक्ष आधे से एक ज़्यादा वोट पाने में कामयाब हो गया तो इमरान सरकार गिर सकती है। अब देखना दिलचस्प होगा कि इमरान विपक्ष द्वारा नो कांफिडेंस मोशन और उससे भी ज़्यादा खुद उनकी पार्टी में हुई उनके खिलाफ इस साज़िश से निपट पाते है या नही।

दिल्ली: CM केजरीवाल को लगा कोविड टीका, दी गई कोविशील्ड की पहली डोज

Previous article

UPPSC PCS Application Form 2021: परीक्षा फॉर्म भरने का कल आखिरी दिन, जानें ये जरूरी जानकारी

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.