देश मनोरंजन यूपी

मैं बने रहना चाहता हूं रवि किशन, नेता बनने का शौक नहीं

Ravi kishan मैं बने रहना चाहता हूं रवि किशन, नेता बनने का शौक नहीं

लखनऊ। गोरक्षपीठ के विशेष प्रभुत्व वाले गोरखपुर लोकसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी रवि किशन का कहना है कि वह ना तो नेता हैं और ना ही बनना चाहते हैं। चुनाव जीतने के बाद वह गोरखपुर में भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री को नए मुकाम तक ले जायेंगे।

भोजपुरी फिल्मों के सुपर स्टार रवि किशन ने कहा कि फिल्मी कलाकारों का राजनीति में आना कोई गुनाह नहीं है। फिल्मों से जुड़े लोग भी अच्छे नेता हो सकते हैं। दक्षिण भारत में इस तरह के बहुत से उदाहरण हैं। इस सवाल पर कि क्या वह गोरक्षपीठ के प्रभुत्व वाले गोरखपुर के नये नेता बनकर उभरना चाहते हैं, किशन ने कहा ”ना मैं नेता हूं और ना ही बनना चाहता हूं मैं रवि किशन बने रहना चाहता हूं क्योंकि इसी वजह से तो लोग मुझे प्यार करते हैं।”

सांसद बनने के बाद गोरखपुर के लिए रवि किशन क्या करेंगे ? इस सवाल पर वह कहते हैं ”सच बताऊं तो मुझे समझ ही में नहीं आ रहा है कि मैं गोरखपुर के लोगों से क्या कहूं। योगी बाबा (योगी आदित्यनाथ) ने एक सांसद के रूप में गोरखपुर में इतना विकास कर दिया है कि अब मेरे लिए कुछ करने को बचा ही नहीं है।”

वह कहते हैं, ”अगर मैं सांसद चुन लिया गया तो गोरखपुर में फिल्म इंडस्ट्री खड़ी करूंगा। पूर्वांचल के बहुत से युवाओं की अभिनेता बनने की ख्वाहिश है और मैं उनकी इस प्रतिभा के जरिए उन्हें रोजगार दिलाऊंगा।” अभिनय से राजनीति में आने वाले कलाकारों को लेकर अक्सर लोगों की राय नकारात्मक होने के बारे में पूछे जाने पर किशन ने दक्षिण भारत के कामयाब अभिनेताओं/नेताओं एनटी रामा राव, जयललिता तथा राजनीति में कदम रखने वाली कई अन्य मशहूर हस्तियों का हवाला देते हुए कहा कि अगर फिल्मी कलाकारों के सामने एक नेता के रूप में विश्वसनीयता का संकट होता तो यह सभी लोग देश की सियासत के इतिहास में अपना नाम दर्ज ना करा पाते।

Related posts

देश की राजधानी में कोरोना से मरे लोगों के शवों की बुरी हालत, न तो कोई दफनाने वाला और नहीं कोई जलाने वाला..

Mamta Gautam

पुलिस ने किसानों को दिल्ली जाने से रोका, हिसंक हुए किसानों ने कर दिया एसएसपी की गाड़ी पर हमला

Aman Sharma

गंगा मईया करेंगी कोरोना इलाज, जानिए गंगा जल से कैसे भागेगा कोरोना?

Mamta Gautam