गृह मंत्रालय का दावा, भारत के खिलाफ सिख युवकों को आतंकी बना रहा ISI

नई दिल्ली।  गृह मंत्रालय की एक रिपोर्ट में चौकाने वाला खुलासा हुआ है। गृह मंत्रालय की रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत पर आतंकी हमला करवाने के लिए पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई सिख युवकों को आतंकी ट्रेनिंग दे रही है। मिली जानकारी के मुताबिक कनाडा और अन्य जगहों पर रह रहे सिखों को भारत के खिलाफ गलत और झूठी जानकारी दी जा रही है। इन युवकों का ब्रेनवॉश कर भारत के खिलाफ भड़काया जा रहा है। गृह मंत्रालय के अफसरों ने बीजेपी सांसद मुरली मनोहर जोशी की अध्यक्षता वाले संसदीय पैनल को बताया कि आतंकी संगठन सिख युवकों में इंटरनेट और सोशल मीडिया के जरिए कट्टरता बढ़ा रहे हैं, जोकी भारत के लिए एक चुनौती है। 

कमेटी की रिपोर्ट के मुताबिक केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल और आंतरिक सुरक्षा एजेंसियों ने सोमवार को पार्लियामेंट में पेश किए दस्तावेजों में कहा कि पिछले दिनों पाकिस्तान में सिख आतंकी संगठनों में बढ़ोत्तरी देखी गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि आईएसआई आतंकी संगठनों के कमांडरों और खुफिया एजेंसियों पर पंजाब सहित पूरे देश में आतंकी गतिविधियों को आगे बढ़ाने के लिए दबाव डाल रही है इसलिए सिख युवकों को आईएसआई द्वारा प्रशिक्षित किया जा रहा है।

खुफिया एजेंसियों का कहना है कि जेल में आए नए कैडरों, बेरोजगार युवकों, अपराधियों और तस्करों को पाकिस्तान के सिख आतंकी संगठन आतंकी हमलों के लिए शामिल किए जा रहे हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, यूरोप, यूएस और कनाडा में रह रहे सिखों को भारत के खिलाफ एक झूठे प्रोपेगेंडा के तहत तैयार किया जा रहा है। देश की एजेंसियां पाक के आतंकी संगठनों लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद समेत इंडियन मुजाहिदीन और सिमी पर नजर बनाए हुए हैं और जरूरत पड़ने पर कार्रवाई करेंगी।