लाइफस्टाइल हेल्थ

सूर्य नमस्‍कार से बढ़ाएं बच्‍चों की हाइट !

4 yoga सूर्य नमस्‍कार से बढ़ाएं बच्‍चों की हाइट !

बढ़ते बच्‍चों के लिए सूर्य नमस्‍कार योगाभ्‍यास काफी फायदेमंद होता है। अगर 8 साल के उम्र के बाद बच्‍चों की दिनचर्या में सूर्य नमस्‍कार शामिल किया जाए तो इससे उनका शारीरिक और मानसिक दोनों का ही बेहतर तरीके से विकास होता है।

यह भी पढ़े

 

 

दो साल बाद शुरू होगी अमरनाथ यात्रा , मिली हरी झंडी , जानें क्या होंगी गाइडलाइंस

ऐसे में अगर आपके घर में 8 से 10 साल के बच्‍चे हैं तो उन्‍हें आप जरूर सूर्य नमस्‍कार सिखाएं और इसके महत्‍व को बताएं।

 

Lucknow: हर मंडल में योग कार्यक्रम का आयोजन करवाएंगी BJP , श्यामा प्रसाद मुखर्जी को भी करेंगे याद

सीधे खड़े हो जाएं और कमर पर हाथ रखकर एक बार पंजा और एक बार एड़ी पर खड़े हों। ऐसा 20 बार करें । अब एक पैर को उंचा उठाते हुए पीछे की तरफ ले जाएं । फिर पैर को उसी तरह आगे लाएं । ऐसा 20 बार करें।

International Yoga day: इस योग दिवस जानें कुछ नियम, वरना हो सकता है नुकसान

अब ताड़ासन की मुद्रा में आएं और उंगलियों को इंटरलॉक कर हाथों को कान से सटाकर उपर ले जाएं और उपर की तरफ स्‍ट्रेच करें। 10 तक गिनें।

l yoga teach 1624267273 सूर्य नमस्‍कार से बढ़ाएं बच्‍चों की हाइट !

खड़े जो जाएं पैरों के बीच गैप रखते हुए एक हाथ को उपर उठाएं और दाहिनी तरह इनहेल करते हुए झुकें और एक्‍सेह करते हुए बाए ओर झुकें। ऐसा 10 बार करें।

yoga day सूर्य नमस्‍कार से बढ़ाएं बच्‍चों की हाइट !
yoga day

अब पैरों को दोनों तरह फैलाएं और दाहिने और बाएं तरफ एक के बाद एक झुकें और पैरों को छूने की कोशिश करें। ऐसा 10 बार करें । अब सिर को जमीन पर रखकर कुछ देर स्‍ट्रेच करें। फिर पीछे की तरह झुकें । 10 तक गिनें।

4 yoga सूर्य नमस्‍कार से बढ़ाएं बच्‍चों की हाइट !

जिनकी कमर में दर्द रहता है वे पूरी तरह झुकने से बचें और यदि घुटने में दर्द है तो अश्‍वसंचालन आसन करने में सावधानी बरतें।

प्रणामासन

मैट पर सीधे खड़े हो जाएं और सबसे पहले सहज मुद्रा में प्रणाम करें। प्रणाम की मुद्रा में सूर्य को ध्‍यान करें। अपने दोनों पैरों को मिला कर रखें। अपनी कमर और गर्दन को सीधी रखें।

हस्तउत्तनासन

इनहेल करते हुए अपने दोनों हाथों को कान से सटाते हुए सिर के ऊपर ले जाएं। हाथों को प्रणाम की मुद्रा में ही पीछे की तरफ हल्‍का झुकें।

पादहस्तासन

सांस छोड़ते हुए आगे की ओर झुकें और अपने हाथों से पैरों की उंगलियों को छुएं। इस मुद्रा में आपका सिर घुटनों को छूना चाहिए।

अश्व संचालनासन

सांस लेते हुए दाहिने पैर पीछे की ओर ले जाएं। इस पैर का घुटना जमीन से छूना है । इस दौरान दूसरे पैर को मोड़ें। अपनी हथेलियों को जमीन पर सीधा रखें और ऊपर सिर रखकर सामने की ओर देखें।

Related posts

रातभर भिगोकर सुबह खाएं ये 5 चीजें, बीमारियों से मिलेगा छुटकारा

Rahul

कोरोना अपडेट : भारत में बीते 24 घंटे में सामने आए 20,799 नए मामले, 180 लोगों की हुई मौत

Neetu Rajbhar

गर्मी के मौसम में पीना चाहिये काढ़ा? जानें इसके नुकसान और फायदे

Rahul