राज्यपाल बेबी रानी मौर्य अपने भ्रमण कार्यक्रम के अनुसार जनपद मुख्यालय बागेश्वर पहुंची

राज्यपाल बेबी रानी मौर्य अपने भ्रमण कार्यक्रम के अनुसार जनपद मुख्यालय बागेश्वर पहुंची

देहरादून। प्रदेश के राज्यपाल बेबी रानी मौर्य आज अपने भ्रमण कार्यक्रम के अनुसार जनपद मुख्यालय बागेश्वर पहुंची। इसके बाद वह लो.नि.वि. विश्राम गृह बागेश्वर पहुंचने पर पुलिस विभाग के द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। विश्राम गृह में जनपद के रेडक्रास सोसायटी के प्रतिनिधि मण्डल एवं अन्य गणमान्य व्यक्तियों के द्वारा शिष्टाचार भेंट की और जनपद के अनेक समस्याओं से भी अवगत कराया व प्रतीक चिन्ह भेंट किया। राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने लो.नि.विश्राम गृह के प्रागंण में रूद्राक्ष एवं च्यूरा का वृक्षारोपण भी किया।

 

प्रवृत्ति को रोकने के लिए हमें ठोस कार्य करना होगा और जनजागरूकता अभियान चलाने होंगे

बता दें कि राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने कहा कि पर्वतीय क्षेत्रों में बड़ रही नशे की प्रवृत्ति को रोकने के लिए हमें ठोस कार्य करना होगा और जनजागरूकता अभियान चलाने होंगे। कहा कि विद्यालयों के प्रधानाचार्य व अभिभावकों को आपस में मिलकर इसके लिए ठोस पहल करनी होगी। राज्यपाल मौर्य ने कहा कि जनपद बागेश्वर में पर्यटन की अपार सम्भावनायें हैं। इसके लिए हमें ठोस कार्ययोजना तैयार करनी होगी। कहा कि सरयू और गोमती तट के संगम में बसे हुए बागेश्वर की अपनी एक विशिष्ट पहचान है। इसमें से अधिक यहां के बागनाथ मंदिर की पहचान देश व विदेशों में भी है।

पुलिस अधीक्षक पंकज भट्ट सहित अन्य जनपद स्तरीय अधिकारी एवं गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे

राज्यपाल ने कहा कि विशेषकर स्वास्थ्य, शिक्षा, पेयजल, सड़क के प्रति हमें विशेष ध्यान देना होगा। साथ ही यहां के विलुप्त हो रहे रिंगाल उद्योग को भी बढ़ावा देने की बात कही। उन्होंने पर्वतीय क्षेत्रों से हो रहे पलायन पर भी चिन्ता व्यक्त करते हुए कहा कि हमें युवाओं को स्वरोजगार के प्रति प्रेरित करना होगा। उन्होंने महिला स्वयं सहायता समूहों को आत्मनिर्भर बनाने को कहा। राज्यपाल ने जिलाधिकारी रंजना राजगुरू से जनपद के अनेक विकास कार्यों व योजनाओं तथा कानून व्यवस्था के संबंध में जानकारी भी प्राप्त की। इस अवसर पर जिलाधिकारी रंजना राजगुरू एवं पुलिस अधीक्षक पंकज भट्ट सहित अन्य जनपद स्तरीय अधिकारी एवं गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।