Farooq Abdullah

नई दिल्ली: पीएम मोदी ने 24 जून को जम्मू-कश्मीर के नेताओं के साथ गुपकार ग्रुप की बैठक बुलाई है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बैठक में गुपकार गठबंधन की ओर से फारूक अब्दुल्ला शामिल होंगे। वहीं बताया जा रहा है कि इस सर्वदलीय बैठक में पीडीपी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती शामिल नहीं होंगी। पीएजीडी जम्मू-कश्मीर के कुछ दलों का गठबंधन है, जिसमें नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी शामिल हैं, जो केंद्र सरकार की तरफ से जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को निरस्त करने के फैसलों के बाद बनाया गया था। इस सर्वदलीय बैठक के लिए जम्मू-कश्मीर के 14 राजनीतिक दलों को न्यौता भेजा गया है।

रविवार को फारूख अब्दुल्ला के घर हुई बैठक

रविवार को एनसीपी अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला के घर पर नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेताओं की बैठक हुई इसमें पीएम मोदी की सर्वदलीय बैठक और मौजूदा राजनीतिक हालात को लेकर चर्चा की गई। यह सर्वदलीय बैठक, केंद्र सरकार द्वारा अगस्त 2019 में जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को निरस्त करने और इसको दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने की घोषणा के बाद से इस तरह की पहली कवायद है।

बता दें कि रविवार को पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री आवास पर इस सर्वदलीय बैठक को लेकर करीब दो घंटे तक चर्चा की। इस दौरान गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और पीयूष गोयल मौजूद थे। माना जा रहा है कि पीएम मोदी की इस बैठक में 24 जून को जम्मू-कश्मीर के सर्वदलीय बैठक के मद्देनजर तैयारियों का जायजा लिया गया।

कांग्रेस ने राज्य का दर्जा बहाल करने की कही बात

वहीं, पीएम मोदी की सर्वदलीय बैठक से पहले कांग्रेस ने कहा कि केन्द्र को संविधान और लोकतंत्र के हित में, जम्मू-कश्मीर का राज्य का दर्जा बहाल करने की मांग स्वीकार करनी चाहिए। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने हालांकि यह नहीं बताया कि पार्टी 24 जून को होने वाली बैठक में हिस्सा लेगी या नहीं।

राम मंदिर व योगी पर विवादित टिप्पणी करने वाले को रालोद ने दी बड़ी जिम्मेदारी

Previous article

बिजनौर में गर्भवती के पेट पर मारी लात, वीडियो वायरल होने पर पुलिस ने…

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured