December 4, 2022 9:49 am
featured धर्म

शुरू होने जा रहे शारदीय नवरात्रि, इन मंत्रों का करें जाप, मां होंगी प्रसन्न

fichar navratri शुरू होने जा रहे शारदीय नवरात्रि, इन मंत्रों का करें जाप, मां होंगी प्रसन्न

 

भारत में शारदीय नवरात्रि का पर्व बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। खास कर हिन्दुओं में नवरात्रि का काफी ज्यादा महत्व है।

यह भी पढ़े

 

मुख्यमंत्री योगी का मिर्जापुर दौरा, मां विंध्यवासिनी के दरबार में टेका मत्था, सीएम ने निर्माणाधीन विंध्य कॉरीडोर के कार्यों का किया निरीक्षण

 

26 सितंबर से शुरू होकर हो रहे शारदीय नवरात्रि

अश्विन माह के शुक्ल पक्ष की तिथि से नवरात्रि का पर्व शुरू होता है और इस साल शारदीय नवरात्रि का पर्व 26 सितंबर से शुरू होकर 5 अक्टूबर को समाप्त होगा।

navratri 2 शुरू होने जा रहे शारदीय नवरात्रि, इन मंत्रों का करें जाप, मां होंगी प्रसन्न

 

की जाती है मां के 9 स्वरूपों की पूजा

ऐसी मान्यता है कि नवरात्रि में मां दुर्गा की अपनी भक्तों पर असीम कृपा रहती है। नवरात्रि में भक्त मां दुर्गा के 9 रूपों की पूरे विधि विधान से पूजा अर्चना करते है। नवऱात्रि में लोग घरों में कलश रखते है और 9 दिनों का उपवास भी रखते है। इसके बाद नवमी को 9 कन्याओं को भोग लगाकर व्रत खोलते हैं।

शारदीय नवरात्रि 2020 || Sharadiya Navratri 2020

किया था महिषासुर का वध

बताया जाता है कि महिषासुर नाम के राक्षस का वध करने के लिए आदिशक्ति ने मां दुर्गा का रूप धारण किया था। नवमी को मां दुर्गा ने महिषासुर का वध किया था। उस दिन से नवमी को महानवामी पर्व के रूप में मनाया जाने लगा।

 

navratri

मां दुर्गा के अलग-अलग स्वरूपों के बीज मंत्र

1. शैलपुत्री- ह्रीं शिवायै नमरू

2. ब्रह्मचारिणी- ह्रीं श्री अम्बिकायै नमरू

3. चंद्रघंटा- ऐं श्रीं शक्तयै नमरू

4. कूष्मांडा- ऐं ह्री देव्यै नमरू

5. स्कंदमाता- ह्रीं क्लीं स्वमिन्यै नमरू

6. कात्यायनी- क्लीं श्री त्रिनेत्रायै नमरू

7. कालरात्रि- क्लीं ऐं श्री कालिकायै नमरू

8. महागौरी- श्री क्लीं ह्रीं वरदायै नमरू

9. सिद्धिदात्री- ह्रीं क्लीं ऐं सिद्धये नमरू

Navratri2019 4 शुरू होने जा रहे शारदीय नवरात्रि, इन मंत्रों का करें जाप, मां होंगी प्रसन्न

 

मां दुर्गा के ध्यान मंत्र

 

शैलपुत्री माता

वन्दे वाञ्छितलाभाय चन्द्रार्धकृतशेखराम्
वृषारुढां शूलधरां शैलपुत्रीं यशस्विनीम्

ब्रह्मचारिणी माता

दधाना कर पद्माभ्याम अक्षमाला कमण्डलू
देवी प्रसीदतु मई ब्रह्मचारिण्यनुत्तमा

चंद्रघंटा माता

पिंडजप्रवरारूढा, चंडकोपास्त्रकैर्युता।
प्रसादं तनुते मह्यं, चंद्रघंटेति विश्रुता

navratri

कूष्मांडा माता

सुरासम्पूर्णकलशं रुधिराप्लुतमेव च
दधाना हस्तपद्माभ्यां कूष्माण्डा शुभदास्तु मे

navratri 2 शुरू होने जा रहे शारदीय नवरात्रि, इन मंत्रों का करें जाप, मां होंगी प्रसन्न

मां स्कंदमाता

सिंहासनगता नित्यं पद्माश्रितकरद्वया
शुभदास्तु सदा देवी स्कन्दमाता यशस्विनी

 

कात्यायनी माता

चंद्र हासोज्जवलकरा शार्दूलवर वाहना
कात्यायनी शुभंदद्या देवी दानवघातिनि

navratri 2 शुरू होने जा रहे शारदीय नवरात्रि, इन मंत्रों का करें जाप, मां होंगी प्रसन्न

Related posts

रेलवे ने बताया बनाने का आसान तरीका, इस तरह बनायें आईआरसीटी अकाउंट

Kalpana Chauhan

राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू यादव ने पत्नी को पार्टी में किया राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मनोनीत

Rani Naqvi

फ्यूल चोरी मामला: लखनऊ के पेट्रोल पंप वालों ने हड़ताल ली वापस

shipra saxena