Breaking News खेल

धोनी ने खोला राज, इस वजह से 2007 में मिली थी टीम की कप्तानी

28 1456645969 ms dhoni press meet धोनी ने खोला राज, इस वजह से 2007 में मिली थी टीम की कप्तानी

नई दिल्ली। भारतीय टीम के सफल कप्तानों में से एक महेंद्र सिंह धोनी ने बताया कि उन्हें साल 2007 में भारतीय टीम की कप्तानी क्यों दी गई। धोनी ने बताया कि साल 2007 के विश्व कप में भारतीय टीम का प्रदर्शन बहुत ही शर्मनाक भरा रहा था। टीम टूर्नामेंट के ग्रुप स्टेज से बाहर हो गई थी। भारतीय टीम के बांग्लादेश के हाथों हारकर बाहर होने के बाद टीम के सीनीयर खिलाड़ियों पर सवाल उठने लगे थे। इसी बीच सिलेक्टर्स ने मेरा नाम कप्तानी की दावेदारी के लिए पेश कर दिया। धोनी को साल 2007 में सिलेक्टर्स ने युवा टीम दी और उसके बाद जो हुआ वो इतिहास के पन्नो में दर्ज है। 28 1456645969 ms dhoni press meet धोनी ने खोला राज, इस वजह से 2007 में मिली थी टीम की कप्तानी

धोनी ने टीम का कप्तान चुने जाने को लेकर 10 साल बाद बताया कि कप्तान चुने जाने के बाद सीनीयर खिलाडियों ने उनका साथ दिया और क्रिकेट को लेकर उनकी जानकारी और उनका स्वभाव इसमें काफी मददगार साबित हुआ।  धोनी ने कहा कि जब मुझे टीम का कप्तान बनाया गया तो उस मीटिंग का मैं हिस्सा भी नहीं था।  मुझे लगता है कि मेरी ईमानदारी और खेल के प्रति मेरी जानकारी को लेकर मुझे टीम की कप्तानी मिली।  गेम को पढ़ना काफी अहम होता है, हालांकि उस समय टीम में मैं एक युवा खिलाड़ी था और जब एक सीनियर खिलाड़ी ने मेरी राय पूछी तो मैंने खुलकर अपनी राय दी।

आपको बता दें कि धोनी की कप्तानी में भारत की साल 2007 वर्ल्ड टी20 के लिए युवा टीम तैयार की गई  और उसके बाद जो हुआ उसका इतिहास गवाह है। साल 2007 में युवराज सिंह, हरभजन सिंह और वीरेंदर सहवाग जैसे खिलाड़ियों की मौजूदगी के बावजूद धोनी को टीम का कप्तान बनाया गया था और उनकी कप्तानी में भारतीय टीम ने 2007 का टी20 वर्ल्ड कप खिताब अपने नाम किया था। उस प्रतियोगिता में धोनी की कप्तानी की काफी तारीफ हुई थी और उसके बाद से उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा।

 

Related posts

भाजपा ने कांग्रेस नेता पीएल पुनिया पर लगाया महामारी एक्ट के उल्लंघन का आरोप, मामले को लेकर कोर्ट जाएगी बीजेपी

Samar Khan

लखनऊ विश्वविद्यालय की एक और उपलब्धि, बना देश का पहला विवि

Aditya Mishra

लखीमपुर खीरी के बाद अब अंबाला में हुआ हंगामा

Kalpana Chauhan