January 27, 2023 1:40 am
featured धर्म

Govardhan Puja 2022: आज है गोवर्धन पूजा, जानें पूजा विधि, मुहूर्त, महत्व और कथा

govardhan 2022 katha Govardhan Puja 2022: आज है गोवर्धन पूजा, जानें पूजा विधि, मुहूर्त, महत्व और कथा

Govardhan Puja 2022: हर साल दिवाली के दूसरे दिन गोवर्धन पूजा की जाती है। लेकिन इस वर्ष 25 अक्टूबर को सूर्य ग्रहण होने के कारण गोवर्धन पूजा 26 अक्टूबर, 2022 यानी आज मनाई जा रही है।

ये भी पढ़ें :-

पहला भारतीय बना ब्रिटेन का PM, Rishi Sunak ने की किंग चार्ल्स से मुलाकात

गोवर्धन पूजा से जुड़ी पौराणिक कथा
धार्मिक मान्यता यह है कि ब्रजवासियों की रक्षा के लिए भगवान श्रीकृष्ण ने अपनी दिव्य शक्ति से विशाल गोवर्धन पर्वत को छोटी उंगली में उठाकर हजारों जीव-जतुंओं और इंसानी जिंदगियों को भगवान इंद्र के कोप से बचाया था। श्रीकृष्‍ण ने इन्‍द्र के घमंड को चूर-चूर कर गोवर्धन पर्वत की पूजा की थी। इस दिन लोग अपने घरों में गाय के गोबर से गोवर्धन बनाते हैं। कुछ लोग गाय के गोबर से गोवर्धन का पर्वत मनाकर उसे पूजते हैं तो कुछ गाय के गोबर से गोवर्धन भगवान को जमीन पर बनाते हैं।

गोवर्धन पूजा का शुभ मुहूर्त

  • गोवर्धन पूजा प्रातःकाल मुहूर्त – सुबह 06:29 बजे से 08:43 बजे तक।
  • अवधि – 02 घंटे 14 मिनट
  • प्रतिपदा तिथि प्रारम्भ – अक्टूबर 25, 2022 को शाम 04:18 बजे।
  • प्रतिपदा तिथि समाप्त – अक्टूबर 26, 2022 को दोपहर 02:42 बजे।

गोवर्धन पूजा विधि 2022

  • 25 अक्टूबर को सुबह सूतक काल होने के कारण गोवर्धन की पूजा नहीं की जाएगी. 26 अक्टूबर को पूजा से पहले घर में गोवर्धन पर्वत बना लें।
  • ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस दिन पर्वत के आसपास गाय या बछड़े को लाकर उसपर चढ़ाया जाता हैं. हालांकि, कई जगह पर ये परंपरा खत्म हो चुकी है।
  • इसके बाद उस पर्वत की पूजा होती है और उस पर मूली, मिठाई, पूरी का भोग लगाया जाता है।
  • गोबर की आकृति बनाकर पर्वत की परिक्रमा की जाती है।
  • वहीं, भगवान श्री कृष्ण की पूजा होती है।
  • इसके बाद गोबर की आकृति पर चावल, रोली, मोली, सिंदूर, खीर आदि चढ़ाई जाती है. उसके बाद पूजा की जाती है।
  • आखिर में गोवर्धन की आरती होती है।

Related posts

बाढ़ की तबाही जारी, कर्नाटक में मृतकों की संख्या बढ़कर हुई 65

bharatkhabar

UP News: अटाला हिंसा के मास्टरमाइंड मोहम्मद जावेद के घर चस्पा नोटिस, जिला प्रशासन पर चलाएगा बुलडोजर

Rahul

क्या एकलव्य अर्जुन से बड़ा धनुधर था? पढ़िए ये कथा

Hemant Jaiman