सीएम रावत नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग उत्तराखण्ड के नव निर्मित कार्यालय भवन का लोकार्पण करेंगे

देहरादून। अपर महानिदेशक(कानून व्यवस्था) अशोक कुमार एवं अपर निदेशक एवं आरसी, पीसीआरए नई दिल्ली बशिष्ठ कुमार शुक्रवार 31 अगस्त, 2018 को पूर्वाह्न 9.30 बजे शक्तिमान पुलिस फिलिंग स्टेशन(पेट्रोल पम्प) पुलिस लाईन रेस कोर्स देहरादून से पीसीआरए प्रचार वैन को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। पेट्रोलियम संरक्षण अनुसंधान संघ(पीसीआरए) एक पंजीकृत सोसाइटी है, जो भारत सरकार के पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के तहत स्थापित है।

एक लाभ निरपेक्ष संगठन के रूप में, पीसीआरए एक राष्ट्रीय सरकारी एजेंसी है जो अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों में ऊर्जा दक्षता को बढ़ावा देने में लगी हुई है। पीसीआरए का लक्ष्य तेल संरक्षण को राष्ट्रीय आंदोलन बनाना है। अपने जनादेश के हिस्से के रूप में, पीसीआरए को पेट्रोलियम उत्पादों और उत्सर्जन में कमी के महत्व, विधियों और लाभों के बारे में जनता के बीच जागरूकता पैदा करने के कार्य सौंपा गया है। लोगों को संदेश देने के लिये पीसीआए बड़े पैमाने पर संचार के लिये सभी संभावित और प्रभावी मीडिया का उपयोग करता है। इनमें इलेट्राॅनिक और प्रेस मीडिया जैसे टीवी, रेडियो, इलेक्ट्रॉनिक डिस्प्ले शामिल है।

प्रेस का विशिष्ट लक्षित समूहों के लिये राष्ट्रीय और राज्य स्तर के लिये छपा साहित्य है। होर्डिंग्स, प्रचार वैन इत्यादि के माध्यम से, आउटडोर प्रचार करना। पीसीआरए प्रचार वैन विशेष रूप से उत्तराखण्ड राज्य के लिये औपचारिक रूप से 30 दिनों की अवधि के लिये शुरू होगी। प्रचार वैन देहरादून में शुरू होने से यह मसूरी, धनौल्टी, चम्बा, नई टिहरी, देवप्रयाग, श्रीनगर, रूद्रप्रयाग, गौचर, कर्णप्रयाग, गैरसैंण, रानीखेत, अल्मोड़ा, नैनीताल, हल्द्वानी, काशीपुर, हरिद्वार और ऋषिकेश में गांवों सहित मार्ग पर जाएगी। प्रचार वैन जिला मुख्यालय, पंचायत घर और शहर के अन्य प्रमुख स्थानों पर रूकेगी। प्रचार वैन ने आॅडियों विजुअल, लघु फिल्मों और ऊर्जा संरक्षण पर संदेश भारत सरकार की पहल एलपीजी योजना सहित सुसज्जित है। पेट्रोलियम उत्पादों के संरक्षण पर सुचना पुस्तिकाएं और ब्रोशर भी लोगों को वितरित किया जाएगा।