featured उत्तराखंड राज्य

मुख्यमंत्री ने किसान दिवस के अवसर पर प्रदेशवासियों को दी शुभकामनाएं

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत मुख्यमंत्री ने किसान दिवस के अवसर पर प्रदेशवासियों को दी शुभकामनाएं

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने किसान दिवस के अवसर पर प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दी है। उन्होंने इस अवसर पर किसान नेता एवं पूर्व प्रधानमंत्री चैधरी चरण सिंह का भी भावपूर्ण स्मरण कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है। इस अवसर पर जारी अपने संदेश में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। राज्य सरकार द्वारा गन्ना किसानों के बकाया भुगतान के संबंध में भी प्रभावी पहल की जा रही है। इसी क्रम में सरकारी चीनी मिलों के बकाया भुगतान के लिये रू.  98 करोड की धनराशि अवमुक्त की गई है।

मुख्यमंत्री ने किसान दिवस के अवसर पर प्रदेशवासियों को दी शुभकामनाएं
मुख्यमंत्री ने किसान दिवस के अवसर पर प्रदेशवासियों को दी शुभकामनाएं

इसे भी पढ़ेंःमुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने की विकास कार्यों की समीक्षा

प्रदेश सरकार 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के संकल्प के साथ कार्य कर रही है। किसानों की आर्थिकी को मजबूती प्रदान करने के लिये राज्य सरकार द्वारा प्रभावी पहल की गई है। किसानों को मात्र दो फीसदी ब्याज पर उन्हें उनकी जरूरत के हिसाब से एक लाख रूपए तक का ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। इस योजना से अब तक 03 लाख से अधिक किसान लाभान्वित हो चुके है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि किसानों की हालत सुधारने के लिए प्रदेश में जैविक खेती को बढ़ावाा दिया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें-मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत जनपदों का भ्रमण कर विकास कार्यों की करेंगे समीक्षा

राज्य में इस समय 60 हजार हेक्टेयर क्षेत्रफल पर जैविक खेती की जा रही है। किसानों को खाद पर डीबीटी सब्सीडि देने की शुरुआत की गई है। उन्होंने कहा कि सगंध पौधों की खेती के जरिए कई किसानों की आमदनी दो गुनी हुई है। गांवों में बागवानी, सब्जी उत्पादन को बढ़ावा दिया जा रहा है। किसानों के व्यापक हित में ‘बीज से बाजार तक’ की रणनीति तय की गई है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम के सहयोग से 3632 करोड़ रूपए की समेकित सहकारी विकास परियोजना शुरू की गई है। इससे प्रदेश के 50 हजार किसानों को फायदा होगा। जैविक खेती के विकास के लिए पहले चरण में 78 हजार हेक्टेयर भूमि में 3900 क्लस्टर चयनित किए गये हैं।इससे 1 लाख 95 हजार किसान लाभान्वित होंगे।

कृषि यंत्रीकरण के लिए फार्म मशीनरी बैंको की संख्या 70 से बढाकर 370 की गई है। फार्म मशीनरी बैंक में कम से कम 8 कृषकों के समूह को रू. 10.00 लाख मूल्य तक के कृषि यन्त्र 80 प्रतिशत अनुदान पर उपलब्ध कराये जाने की व्यवस्था की गई है। दुग्ध संघों को 04 रूपये प्रति लीटर प्रोत्साहन राशि उपलब्ध करायी जा रही है इससे लगभग 50 हजार दुग्ध विक्रेता लाभान्वित होंगे।मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि हमारा प्रदेश भी मुख्य रूप से गांवों की भूमि है और गांवों में रहने वाली अधिकांश आबादी किसानों की है। कृषि उनकी आय का मुख्य साधन है। प्रदेश में कृषि की तस्वीर बदलकर किसानों की खुशहाली का हमारा संकल्प है।

महेश कुमार यादव

Related posts

21 नवंबर 2021 का राशिफल: सिद्धि योग से बनेंगे हर बिगड़े काम, जानें आज का राशिफल

Neetu Rajbhar

वानी की हत्या बाद घाटी में आतंकवाद बढ़ने की आशंका: उमर

bharatkhabar

‘IIFA अवॉर्ड’ में रेखा ने लूटी महफिल, लोगों ने कहा ‘सलाम-ए-इश्क’

mohini kushwaha