0145f9ed 16c3 4097 af4a e39107abe587 दिसंबर महीने में इतने दिन बंद रहेंगे बैं​क, जानें किस दिन कहां है बैंक की छुट्टी
प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली। देश में एक बार फिर बैंकों की लंबी छुट्टी पड़ने वाली है। क्योंकि साल के अंतिम महीने में कई त्यौहार आने वाले हैं। जिसके चलते बैंकों की छुट्टी करने की घोषणा कर दी गई है। अगर आप साल के अंतिम  महीने में कुछ जरूरी कामों के लिए बैंक जाने का प्लान कर रहे हैं, तो सबसे पहले बैंक की छुट्टियां देखकर ही आगे का प्लान बनाएं। भारतीय रिजर्व बैंक ने कुछ खास दिनों का जिक्र करते हुए साल के अंतिम महीने के लिए बैंकों की छुट्टियों की लिस्ट जारी की है। साल के अंतिम महीने दिसंबर में लगभग 11 दिन बैंक बंद रहने वाले हैं। हैदराबाद में नगर निगम के चुनाव के कारण 1 दिसंबर को हैदराबाद में बैंकों की छुट्टी होने वाली है।

अलग-अलग राज्यों में पड़ेंगी ये सभी छुट्टियां-

बता दें कि यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि बैंक की छुट्टियां अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग होती हैं। यह बैंकिंग छुट्टियां विशिष्ट राज्यों में मनाए जाने वाले त्योहारों पर भी निर्भर करती हैं। इस साल हैदराबाद में नगर निगम के चुनाव के कारण 1 दिसंबर को हैदराबाद में बैंकों की छुट्टी होने वाली है। वहीं दूसरे राज्यों में 3 दिसंबर को कनकदास जयंती और फेस्ट ऑफ सेंट फ्रांसिस जेवियर के साथ बैंकों की छुट्टियों की शुरुआत हो जाएगी। इसके साथ ही क्रिसमस के मौके पर 25 को पूरे भारत में बैंकों का अवकाश रहेगा। RBI इस दिन को वार्ता योग्य साधन अधिनियम और रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट हॉलिडे के तहत छुट्टी के दिन के रूप में रखता है। वहीं गोवा में तीन दिन का भी छुट्टी दी जाएगी। यह छुट्टी 17 दिसंबर को लॉसोन्ग पर्व, 18 दिसंबर को डेथ एनिवर्सरी यू सो सो थम और 19 को गोवा लिबरेशन डे के रूप में दी जाएगी।

दिसंबर में दी जाने वाली छुट्टी-

ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम के लिए साधारण चुनाव:  1 दिसंबर

कनकदास जयंती / सेंट फ्रांसिस ज़ेवियर का पर्व:  3 दिसंबर

पा-तोगन नेंगमिनजा संगमा:  12 दिसंबर

लोसोंग / नमोसोंग:  17 दिसंबर

यू सोसो थैम / लॉसोन्ग / नमोसोंग की पुण्यतिथि:  18 दिसंबर

गोवा मुक्ति दिवस:  19 दिसंबर

क्रिसमस पर्व:  24 दिसंबर

क्रिसमस:  25 दिसंबर

क्रिसमस पर्व:  26 दिसंबर

यू किआंग नंगबाह:  30 दिसंबर

वर्ष की पूर्व संध्या:  31 दिसंबर

Trinath Mishra
Trinath Mishra is Sub-Editor of www.bharatkhabar.com and have working experience of more than 5 Years in Media. He is a Journalist that covers National news stories and big events also.

भारत के लिए फिर सिरदर्द बना चीन, ब्रह्मपुत्र नदी पर बनाने जा रहा बांध, जानें पड़ोसी देशों पर क्या पड़ेगा असर

Previous article

PVC कार्ड पाना अब हुआ बेहद आसान, जानिए कैसे करें आवेदन

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.