भारत और नेपाल की सेना के किया दूसरे दिन भी संयुक्त अभ्यास

पिथौरागढ़। द्विपक्षीय संबंधों को सुधारने के लिए भारत और नेपाल की सेना संयुक्त अभ्यास करने में लगी हुई हैं। आज दोनों सेनाओं के संयुक्त अभ्यास का आज दूसरा दिन है। यह अभ्यास मंगलवार को किया था।

बुधवार सुबह दोनों देशों के सैनिकों ने ब्रास और पाइप बैंड के मिलीजुली धुनों के बीच सेना क्षेत्र के मैत्री मैदान में प्रवेश किया और मुख्य व विशिष्ट अतिथियों को सलामी दी। दोनों देशों के राष्ट्रीय ध्वजों के निशान टोलियों के माध्यम से मैदान में लाया गया। उद्घाटन समारोह का मुख्य आकर्षण पंजाब रेजीमेंट सेंटर का बैंड रहा जो देश-विदेश में अपनी कला का प्रदर्शन कर वाहवाही लूट चुका है। इस वर्ष की गणतंत्र दिवस परेड व विजय चौक पर आयोजित बीटिंग रिट्रीट में भी यह शामिल था।

बताते चले कि दोनों देशों के मध्य बटालियन स्तर पर आयोजित होने वाले अभ्यास का यह ग्यारहवां संस्करण है। इसका मुख्य उद्देश्य सैनिकों को दुर्गम पर्वतीय क्षेत्रों में आतंकवाद विरोधी अभियान का प्रशिक्षण देना है। दोनों देशों के सैनिक संयुक्त अभ्यास के दौरान अनुभव भी साझा करेंगे। इस अभ्यास में मानवीय सहायता और आपदा प्रबंधन को भी शामिल किया गया है। इसके तहत दोनों देशों के सैनिक दल आपदा से निपटने का प्रशिक्षण प्राप्त करेंगे जिसमें प्राकृतिक आपदा के समय बचाव व राहत अभियान शामिल होगा।

अभ्यास के दौरान अंतर कार्यक्षमता अभियानों को बढ़ावा देने तथा स्वयं की कवायद और तौर-तरीकों को परिष्कृत किया जाएगा।