नौकरी के नाम पर रिश्वत लेते पकड़ा गया सैनेटरी इंस्पेक्टर

मेरठ। दिल्ली और गाजियाबाद की 10 सदस्यों की सीबीआई टीम ने देर रात मेरठ छावनी परिषद के सैनेटरी इंस्पेक्टर को दस लाख रुपयों की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। खबर के अनुसार सीबीआई की टीम ने सेनेटरी इंस्पेक्टर योगेश कुमार यादव से दस लाख कैश और भारी मात्रा में सरकारी कागजात बरामद किये है।

meerut

बताया जा रहा है कि छावनी परिषद ने विभिन्न पदों पर कई नियुक्तियां शुरू की है। जिसके बाद छावनी परिषद में नौकरी लगवाने के नाम पर सैनेटरी इंस्पेक्टर योगेश ने अनुज नामक कैंडिडेट से दस लाख रुपयों की रिश्वत की मांग की थी।

आपको बता दें कि अनुज और उनके चाचा विनोद ने रिश्वत की शिकायत सीबीआई टीम से कर दी जिसके बाद अब साधारण तरीके से सेनेटरी इंस्पेक्टर ने उन्हें कैश लेकर परिषदीय कैंटीन में बुला लिया। तभी वहां पर मौजूद सीबीआई की टीम ने इंस्पेक्टर योगेश को रंगे हाथों पकड़ लिया और पूछताछ के लिए बीएसएनएल के गेस्ट हाउस ले आई। करीब 6 घंटे की पूछताछ के बाद सीबीआई की टीम रिश्वतखोर इंस्पेक्टर को गाजियाबाद लेकर चली गयी है।

rahul-gupta-meerut-reporter

 

(राहुल गुप्ता, संवाददाता)