74 के हुए सदी के शहंशाह

सदी के महानायक अमिताभ बच्चन आज अपना 74वां जन्मदिवस मना रहे हैं। फिल्मी दुनिया के शहंशाह ने अपनी अदाकारी से हर युवावर्ग को अपना दीवाना बनाया है।
बच्चन को सिनेमा जगत में उनके अद्वितीय करियर के लिए 2015 में देश का दूसरा सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म विभूषण और फ्रांस द्वारा 2007 में नाइट ऑफ द लेजन ऑफ ऑनर से सम्मानित किया जा चुका है। अमिताभ बच्चन ने अपने शानदार करियर में दीवार, जंजीर, शोले, डॉन, अग्निपथ और पा जैसी कई सुपरहिट फिल्मों में काम किया है।

4300470b-5e49-4e23-8b64-a198fffc4d08
11 अक्टूबर 1942 को इलाहाबाद मे पिता हरिवंश राय बच्चन के यहां जन्मे अमिताभ बचपन से ही प्रतिभा के धनी थे। अमिताभ का नाम इंकलाब रखना चाहते थे लेकिन उनके पिता के दोस्त और मशहूर कवि सुमित्रानंदन पंत के कहने पर उन्होंने अपने बेटे का नाम अमिताभ रखा।अमिताभ का सरनेम श्रीवास्तव हुआ करता था. लेकिन उनके पिता ने हरिवंश राय ने अपना पेन नेम बच्चन चुना था, इसलिए अमिताभ ने भी अपने नाम के आगे बच्चन लगा लिया। इस तरह से अमिताभ श्रीवास्तव से वे अमिताभ बच्चन बन गए। जीवन के शुरुआती दौर मे अभिनय से कोसो दूर अमिताथ इंजिनीयर बनना चाहते थे, उनकी ये ख्वाहिश थी कि वे एक दिन भारतीय वायु सेना में काम करें और देश की सेवा करें। पर किसी कारणवास उनका सपना पूरा नही हो पाया और जीवन ने रफ्तार मुंबई की ओर मोड़ दी।

कहते हैं सच्ची लगन आपको आपके मुजिल तक जरुर पहुंचाती है, अमित जी के साथ भी ऐसा ही हुआ, उन्होने मुंबई आने से पहले यह ठान लिया था कि किसी भी सूरत में घर वापस नहीं लौटना है और कुछ बड़ा करना है। बिग बी ने जया भादुड़ी से 70 के दशक में शादी की थी। उनके दो बच्चे हैं- बेटी श्वेता और बेटा अभिषेक। उनकी नातिन है नव्या नवेली, नाती है अगस्त्य और पोती है आराध्या।

आज के समय में अमिताभ सिर्फ पूराने लोगों के नहीं बल्कि हर आयु वर्ग के चहेते है। उनके अभिनय ने भारत ही नहीं दुनिया को उनका मुरीद बनाया है। अमित जी जितना अच्छा अभिनय करते हैं उतना ही बेहतर गाना भी गाते हैं, कई सारे हिंदी फिल्मों में अमित जी ने गाने गाए हैं जो बहुत पसंद भी किए गए। अपनी दमदार आवाज को अमित जी ने कई फिल्मों में दिया है। सदी का यह महानायक आज सभी कलाकारों और प्रशंसको की प्रेरणा है।