सपा-बसपा गठबंधन को कांग्रेस ने किया खारिज,कहा अभी औपचारिक घोषणा नहीं हुई

सपा-बसपा गठबंधन को कांग्रेस ने किया खारिज,कहा अभी औपचारिक घोषणा नहीं हुई

उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों पर महागठबंधन की पार्टियों की कशमाकश जारी है। सीटों को लेकर जबरदस्त हलचल मची है। हाल ही में खबर आयी थी, प्रदेश में सीट शेयरिंग को लेकर समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी का आपस में सब कुछ तय हो गया है। दोनों गठबंधन में लड़ने के लिए तैयार हो गए हैं। इस बीच उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष राज बब्बर ने कहा है कि सपा और बसपा के गठबंधन को लेकर अभी दोनों में से किसी भी पार्टी ने औपचारिक तौर पर घोषणा नहीं की है।

सपा-बसपा गठबंधन को कांग्रेस ने किया खारिज,कहा अभी औपचारिक घोषणा नहीं हुई

 

इसे भी पढ़ें-बिहार में महागठबंधन का फार्मूला तय, शामिल हुए उपेंद्र कुशवाहा

राज बब्बर ने कहा कि कांग्रेस प्रदेश की सभी 80 लोकसभा सीटों पर तैयारी करेगी।  बब्बर ने कहा कि दोनों पार्टियों के बीच गठबंधन की बात सिर्फ अफवाह है। राज बब्बर ने कहा कि ‘अखिलेश यादव’ सरकार को सत्ता से गए कितने साल हो गए हैं। मुझे यकीन है कि इस पर वो अच्छा वक्तव्य देंगे। उन्होंने कहा कि अभी तक किसी हितधारक दल ने सीट शेयरिंग को लेकर कोई बात नहीं कही है। उन्होंने कहा कि अभी तक जो खबरे आईं हैं वो अफवाहें हैं।

खबर के मुताबिक शुक्रवार को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती के बीच बैठक हुई है। मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से दौनों पार्टियों ने करीब 71 सीटों पर सहमति जताई है। बैठक में तय हुआ कि सपा प्रदेश की 35 लोकसभा सीटों पर और बसपा 36 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ सकती है। जबकि राष्ट्रीय लोकदल को 3 सीटें और 4 सीटों को रिजर्व रखने की सहमति बनी है। बैठक में दोनों ने अमेठी और रायबरेली से अपने उम्मीदवार न उतारने पर सहमति बनाई है।

कांग्रेस ने ऐसे किसी भी गठबंधन की बात को सिरे से खारिज कर दिया है। दोनों में से किसी भी पार्टी ने साफ तौर पर गठबंधन और सीट शेयरिंग के फार्मूले की बात नहीं कही है। एक दिन पहले राज्यसभा सांसद और समाजवादी पार्टी के महासचिव रामगोपाल यादव ने भी कहा था कि सपा और बसपा के बीच किसी प्रकार के समझौता की उनको कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि दोनों नेताओं के बीच बात हुई है या नहीं इसकी उनको जानकारी नहीं है।रामगोपाल यादव ने कहा कोई भी घोषणा होगी तो वह मायावती और अखिलेश यादव हीं करेंगे।

इसे भी पढ़ें-शत्रुघ्न सिन्हा सहित महागठबंधन के कई नेताओं ने की लालू यादव से मुलाकात