Breaking News featured यूपी राज्य

यूपी मंत्री राजभर के शराब वाले बयान पर भड़की सपा, घर के बाहर किया हंगामा

Rajbhar22 यूपी मंत्री राजभर के शराब वाले बयान पर भड़की सपा, घर के बाहर किया हंगामा

उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने वाराणसी में एक बार फिर विवादित बयान दिया है। राजभर ने शुक्रवार को सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि सबसे अधिक यादव व राजपूत शराब पीते हैं और बदनाम राजभर समाज के लोग होते हैं। राजभर ने कहा कि प्रदेश में शराब की बिक्री नहीं होनी चाहिए। इसके लिए सुभासपा आंदोलन करने जा रही है जिसकी शुरुआत काशी से होगी। कैबिनेट मिनिस्टर के इस बयान से राजनीति गलियारे में फिर से खलबली मच गई है।

 

Rajbhar22 यूपी मंत्री राजभर के शराब वाले बयान पर भड़की सपा, घर के बाहर किया हंगामा
Omprakash Rajbhar (File Photo)

 

उनके बयान से नाराज समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने लखनऊ स्थित यूपी के मंत्री ओपी राजभर के आवास के बाहर प्रदर्शन करते हुए टमाटर फेंके। एक दिन पहले वाराणसी में शराबबंदी के समर्थन की मांग पर ओमप्रकाश राजभर ने कहा था, ‘शराब तो सब पीते हैं पर यादव और राजपूत सबसे ज्‍यादा पीते हैं।’

 

राजभर ने बात करते हुए शराबबंदी को जरूरी बताया और कहा कि शराब से समाज को बहुत नुकसान हो रहा है। वाराणसी में राजभर ने बिहार की तर्ज पर उत्‍तर प्रदेश में भी शराबबंदी को लेकर आवाज उठाई। इसी दौरान उन्होंने कहा कि यादव और राजपूत बिरादरी सबसे ज्यादा शराब पीती है, क्योंकि ये उनका पुश्तैनी कारोबार है।

 

इसके बाद उन्होंने सफाई देते हुए कहा, ‘राजभर, चौहान, कुम्हार, लोहार सभी जाति के लोग शराब पीते हैं।’ उन्होंने आगे कहा, ‘आप उस मां, बहन, बेटी के पास जाओ, वो जानती हैं कि क्या कष्ट है, मैं 15 साल से कह रहा हूं कि शराब बंद हो।’

 

बताया जा रहा है कि राजभर जल्द ही शराबबंदी के खिलाफ महाजन आंदोलन की शुरू करने जा रहे हैं। इसकी शुरुआत 20 मई को बलिया से होने की संभावना है।

Related posts

मलाइका अरोड़ा की बिल्डिंग में एक परिवार निकला कोरोना पॉजिटिव

Rani Naqvi

कोरोना से बड़ी मुसीबत में फंसा इंसान, कोरोना पीड़ितों का खून 10 लाख रूपये लीटर बेचा जा रहा, जानिए क्या है पूरा मामला..

Mamta Gautam

CBSE-ICSE: बोर्ड परीक्षा रद्द करने की मांग वाली याचिका टाली, दो दिन में होगा अंतिम निर्णय

pratiyush chaubey