रमजान में भूलकर भी नहीं करना चाहिए ये चीजें

रमजान में भूलकर भी नहीं करना चाहिए ये चीजें

नई दिल्ली। रमजान का पवित्र महिना 17 मई यानी आज से शुरू हो गया है। रमजान क्यो मनाते है इसका महत्व क्या है ये तो हम आपको पहले ही बता चुके हैं। अगर आपको नहीं पता रमजान क्यो मनाते हैं तो उसका लिंक हम आपको नीचे दे रहें हैं आप पड़ सकते हैं और जान सकते हैं कि आखिर रमजान क्यो मनाया जाता है और इसकी शुरूआत कब और किसने की थी।

कब से शुरु हो रहे हैं रमजान, जाने इतिहास

आज हम अपने इस आर्टिकल में आपको बताएंगे कि आखिर रमजान में किन बातों का ध्यान रखना चाहिए और ऐसा क्या जो रमजान में करने पर आपको उसका लाभ मिलता है।

मुस्लिम कैलेंडर के मुताबिक नौंवा महीना रमजान का माना जाता हैं। इस महीने में मुसलिम समाज के लोग रोजा (उपवास) रखते हैं और खुदा को याद करते हैं। 17 मई यानी आज से रमजान की शुरुआत हो चुकी है, ऐसे में हम आपको बता रहे हैं इस पाक महीने से जुड़ी कुछ जरूरी बातें, जिन्हें माने बिना खुदा की इबादत अधूरी रहती है आइये जानते है कि रमजान के पवित्र महिनें में क्या काम नहीं करना चाहिए जिससे अल्लाह नाराज हो जाते हैं।

क्या करना चाहिए

कुरान के अनुसार मोहम्मद पैगंबर का आदेश था कि रमजान अल्लाह का महीना माना जाए। रमजान में हर मुसलमान रोजा जरूर रखें, इबादत करें।
रोजा रखने की पहली शर्त भूखे रहना नहीं बल्कि खुदा की इबादत है।

इस महीने में कोई भी बुरा काम करना हराम माना गया है। दिल में रहम और दूसरों की मदद करने से अल्लाह आपकी दुआ कुबूल करेंगे। इसलिए रमजान के इस पवित्र महिने में कोई भी बुरा काम ना करें।

सुबह सूरज उगने से पहले सहरी यानी सुबह का खाना खाया जाता है। इसके बाद पूरे दिन कुछ नहीं खाया जाता। इसके बाद सूरत के डूबने के बाद पानी और खाना ले सकते हैं।

 

इस्लाम के नियम

इस्लाम में बताए गए नियमों के अनुसार पांच बातें करने से रोजा टूट जाता है- पहली झूठ बोलना, दूसरी बदनामी करना, तीसरी किसी के पीठ पीछे बुराई करना, चौथी झूठी कसम खाना और पांचवीं लालच करना।

इस महीने दिन में पांच बार की नमाज जरूरी बताई गई है। इस समय खुदा को सच्चे दिल से लगाई गुहार कभी खाली नहीं जाती।

वैसे तो ये बात सभी पर लागू होती है कि रमजान के इस पवित्र में आपको कोई भी गलत काम नहीं करना चाहिए पर जो लोग रोजा रखते हैं उन्हें इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए। कि आप कोई भी ऐसा काम ना करें जिससे आपको रोजा टूटे और अल्लाह आपसे नाराज हो और आपके रोजें का फल आपको ना मिल पाएं। तो अगर आप भी रमजान के पवित्र महिने में रोजा रखतें हैं तो आपको विशेष रुप से इन बातों का ध्यान रखना चाहिए तभी जाकर आपका रोजा सफल होगा।