featured दुनिया देश

हरियाणा में नमाज पढ़ने पर विवाद को लेकर पाकिस्तान ने जताई आपत्ति

bakrid 2 हरियाणा में नमाज पढ़ने पर विवाद को लेकर पाकिस्तान ने जताई आपत्ति

भारत के हरियाणा में कई दिनों से नमाज पढ़ने को लेकर विवाद चल रहा है। जिसमें अब पाकिस्तान कूद पड़ा है। पाकिस्तान ने इस पर नाराजगी जाहिर की है। पाकिस्तान की सरकार समाचार एजेंसी असोसिएटेड प्रेस ऑफ पाकिस्तान के मुताबिक,पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के कार्यालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि हम बीजेपी शासित उत्तर प्रदेश और हरियाणा राज्य में प्रशासन के साथ मिलकर संघ परिवार की तरफ से मस्जिदों पर हमलों और तोड़फोड़ की घटनाओं से बहुत चिंतित हैं।

बता दें कि पाकिस्तान मंत्रालय ने एक पत्र जारी किया है जिसमें लिखा गया है कि शुक्रवार को जब नमाज पढ़ी जा रही थी। तो कुछ हिंदू समूहों ने धार्मिक स्थलों का अपमान किया। पत्र में ये भी लिखा गया कि इस मामले में चिंता जताने के बजाय अन्य कई राज्यों में इसी तरह की घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा है। त्रिपुरा में मुसलमानों, उनके प्रार्थना स्थलों, घरों और व्यवसाय पर लगातार हमले हो रहे हैं।

वहीं पाक विदेश मंत्रालय का कहना है कि भारत में जिन राज्यों में बीजेपी की सरकार है वहां मुसलमानों और मानवाधिकार के उल्लंघन के ख़िलाफ़ आवाज उठाने वाले सैकड़ों लोगों के खिलाफ यूएपीए लगातार उन्हें गिरफ्तार किया गया। जिसमें वकील और पत्रकार भी शामिल हैं। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने ऐसी गिरफ्तारियों पर रोक लगा दी है। पाकिस्तान का कहना है कि महाराष्ट्र में बजरंग दल, विश्व हिंदू परिषद और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना सहित बीजेपी और उससे जुड़े संगठनों के कार्यकर्ताओं ने मुस्लिमों की दुकानों और उनके धार्मिक-स्थलों पर हमले किए हैं।

पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय समुदायों ख़ासतौर पर संयुक्त राष्ट्र और संबंधित अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संगठनों से इस्लामोफ़ोबिया को रोकने के लिए क़दम उठाने का आह्वान किया है। पाकिस्तान का कहना है कि भारत में अल्पसंख्यकों, ख़ासतौर पर मुसलमानों के ख़िलाफ़ हो रहे हिंसक हमलों को रोका जाना चाहिए। उनकी सुरक्षा और उनके धार्मिक स्थलों की सुरक्षा सुनिश्चित की जानी चाहिए।

Related posts

‘जनरल के.वी. कृष्णा राव स्मारक उद्घाट व्याख्यान’ में राष्ट्र को समर्पित किया गया शंखनाद

mahesh yadav

राजनाथ: सभी कश्मीरी नागरिक नहीं हैं आतंकवादी

Srishti vishwakarma

मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए काबुल में ‘स्टॉर पैलेस’ का उद्घाटन किया

bharatkhabar