यूपी में कोरोना की रफ्तार पर लगाम, 1908 मामले मिले
देश अब धीरे – धीरे कोरोना की दूसरी लहर से निकल रहा है । रोजाना आने वाले आंकड़ों में गिरावट दर्ज की जा रही है। ऐसे में केरल से एक ऐसी खबर सामने आई है , जिसने फिर चिंता में डाल दिया है।

भारत में जब कोरोना का पहला केस आया था तो समय पूरे देश में हड़कंप मच गया था। गौरतलब है कि कोरोना का पहला केस केरल से सामने आया था। जिसके बाद पहली लहर में कोरोना के केसों की संख्या बढ़ती गई।

देश की पहली कोरोना मरीज फिर हुई संक्रमित

भारत की पहली कोरोना वायरस मरीज को दोबारा से कोरोना हो गया है। केरल के त्रिशूर की रहने वाली छात्रा को कोरोना होने के बाद होम क्वारंटाइन में रखा गया है । हालांकि छात्रा में कोरोना के किसी भी तरह के लक्षण नहीं दिखाई दिए हैं। मिली जानकारी के अनुसार छात्रा के अलावा घर का कोई भी सदस्य कोरोना पाॅजिटिव नहीं है।

दिल्ली जाने वाली थी छात्रा

छात्रा में कोरोना पाॅजिटिव होने के बारे में तब पता चला जब उसने दिल्ली जाने का प्लान बनाया। जिसके लिए उसका कोरोना का टेस्ट किया गया। बाद में उसकी रिपोर्ट पाॅजिटिव आई । हालांकि लक्षणों को देख ऐसा बिल्कुल भी नहीं कहा जा सकता कि छात्रा कोरोना पाॅजिटिव है।

वैक्सीन की लग चुकी है 1 डोज

कोरोना टेस्ट करवाने से पहले छात्रा को वैक्सीन की 1 डोज लग चुकी है। जिसके बाद वह पाॅजिटिव आई है। ऐसे में अब यह खबर सामने आने के बाद विभाग में हड़कंप मच गया है। त्रिशूर की माने तो उसने ऐसा कभी नहीं सोचा था कि वो संक्रमित होगी। लेकिन पाॅजिटिव आने के बाद चिंता बढ़ गई।

आपको बता दें कि केरल के त्रिशूर की रहने वाली छात्रा ने चीन के एक मेडिकल कॉलेज में दाखिला लिया था। उस दौरान कोरोना महामारी का संकट पैदा हो गया जिसके बाद वह भारत लौट आई। भारत लौटने के बाद जनवरी 2020 में उसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसी के साथ देश में कोरोना का पहला मामला सामने आया था।

लखनऊः मंगलवार नहीं, शनिवार को होगा तहसील दिवस, जानिए कब होगा थाना दिवस

Previous article

मैनपुरीः तीन युवकों ने किया नाबालिग से दुष्कर्म, जांच में जुटी पुलिस

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured