featured यूपी

मेरठ: मदरसे में वेदों की शिक्षा देने वाले मौलाना चतुर्वेदी नहीं रहे, इस वजह से लोगों ने दिया था यह खास नाम

मेरठ: मदरसे में वेदों की शिक्षा देने वाले मौलाना चतुर्वेदी नहीं रहे, पढ़ने के लिए क्लिक लिंक करें

मेरठ: मुस्लिम धर्मगुरू मौलाना शाहीन जमाली मेरठी का निधन हो गया था। मौलाना को चतुर्वेदी मौलाना भी कहा जाता था। मौलाना को कुरान-हदीस के साथ चारों वेदों का भी अच्छा ज्ञान था। अपने मदरसे इमदाद उल उलूम में कुरान और हदीस के साथ वेद की भी शिक्षा देते थे। मौलाना की मौत से उनके चाहने वालों में शोक की लहर है।

फेफड़ों के संक्रमण से जूझ रहे थे मौलाना

मुस्लिम धर्मगुरू मौलाना शाहीन जमाली मेरठी फेफड़ों के संक्रमण से जूझ रहे थे। चार मई को उन्हे आनंद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। आज 72 वर्षीय मौलाना का बीमारी के चलते निधन हो गया।

वेदों की भी देते थे शिक्षा

मौलाना शाहीन जमाली मेरठी मेरठ के सदर क्षेत्र के रहने वाले थे। मौलाना मुस्लिम धर्मगुरूओं में एक बड़ी शख्सियत रखते थे। उनके मुस्लिम समुदाय के साथ-साथ हिदुंओं के वेदों की भी जानकारी बहुत अच्छी थी इसी वजह से लोग उनकों चुतर्वेदी मौलाना भी कहते थे।

Related posts

चौरी चौरा में पुलिस के सामने युवक की पिटाई का वीडियो हुआ वायरल

Shailendra Singh

नोटबंदी के एक साल पूरा होने पर राहुल ने कसा तंज, सरकार के इस फैसले से देश हुआ तबाह

Breaking News

अब कोहरा नहीं रोक सकेगा विमानन सेवा

piyush shukla