featured देश बिज़नेस

मूडीज ने लगाई मोदी के आर्थिक सुधारों पर मुहर, 14 साल बाद हुई भारत की रेटिंग में बढ़त

moodys

नई दिल्ली। इंटरनेशनल रेटिंग एजेंसी सर्विस मूडीज ने 14 सालों में पहली बार भारत की रेटिंग बढ़ाई है और आउटलुख भी पॉजिटिव से स्थिर कर दिया है। खास बात ये है कि इससे पहले अटल बिहारी वाजपेयी नीत बीजेपी सरकार के तहत ग्लोबल रेटिंग में बढ़त हुई थी। मूडीज में ये सुधार भारत द्वारा किए गए आर्थिक और सांस्थानिक सुधारों के कारण हुआ है। वित्त वर्ष 2018 में जीडीपी ग्रोथ 6.7 फीसदी और वित्त वर्ष 2019 में 7.5 फीसदी रहना संभव है। वित्त वर्ष 2020 के बाद वृद्धि की रफ्तार में तेज बढ़त संभव है। इससे पहले 2004 में भारत की रेटिंग BAA3 थी और 2015 में रेंटिंग को स्टेबल से पॉजिटिव किया गया।

moodys
moodys

बता दें कि मूडीज का कहना है कि रेटिंग में सुधार देश की सरकार द्वारा लिए जा रहे निर्णयों, उनका अर्थव्यवस्था पर किस तरह का असर पड़ रहा है उन आधारों पर लिया जाता है। मूडीज ने बताया कि मोदी सरकार सरकारी कर्ज को भी कम करने की ओर कदम उठा रही है। मूडीज का मानना है कि मोदी सरकार ने सरकारी कर्ज के वृद्धि का जोखिम कम कर दिया है।

वहीं बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी मूडीज़ की रेटिंग आने के बाद मोदी सरकार की तारीफ की। उन्होंने लिखा कि पीएम मोदी की लोकप्रियता और उनकी सरकार के काम के कारण लगातार सुधार हो रहा है। इससे पहले भारत ने ईज़ ऑफ डूइंग की रेटिंग में भी सुधार किया था। इससे पहले वर्ल्ड बैंक के ईज ऑफ डुइंग बिजनस लिस्ट में भारत ने 30 अकों का बड़ा उछाल भरा। पिछले साल के 130वें स्थान से 30 अंकों की छलांग लगाते हुए भारत अब 100वें नंबर पर पहुंच गया है। भारत का प्रदर्शन कई क्षेत्रों में पहले के मुकाबले बेहतर हुआ। इन क्षेत्रों मे बेहतर प्रदर्शन के कारण ही ईज ऑफ डूइंग बिजनस में भारत की ओवरऑल रैंकिंग सुधर गई।

Related posts

यूपी: योगी सरकार के मंत्री बोले, ‘AIMPLB के प्रवक्ता पहले सिमी के सदस्य थे’

Trinath Mishra

दानदाताओं की सूची को लेकरअन्ना ने केजरीवाल पर साधा निशाना

Rahul srivastava

सिगरेट पीने से रोकाना छात्र को पड़ा भारी, एक की मौत, एक गंभीर रूप से घायल

Breaking News