मंडल विकास निगम की एम डी ज्योति नीरज खैरवाल ने एक बड़ा क़दम उठाया

देहरादून। मंडल विकास निगम की एम डी ज्योति नीरज खैरवाल ने एक बड़ा क़दम उठाते हुए 23 कर्मचारियों बाहर का रास्ता दिखा दिया है इसके बाद मंडल के कर्मचारियों ने विभाग के बाहर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया है। इनका कहना है कि एमडी ने बिना पूर्व सूचना के इस हर कम्पलसरी रिटायरमेंट दे दिया है जिसको लेकर ऋषिकेश हरिद्वार और देहरादून में कर्मचारी हड़ताल पर आ गए हैं। गढ़वाल मंडल विकास निगम के दफ़्तर के बाहर धरना दे रहे ये कर्मचारी दो दिन पहले हुए कार्रवाई को लेकर सरकार और एमडी के ऊपर आक्रोशित हैं।

 

 

बता दें कि लगातार ये कर्मचारी नारे लगा रहे हैं उनका कहना है कि बीस पच्चीस साल की सेवा के बाद इस तरह बाहर का रास्ता दिखाना सरकार की ग़लत नीति है इसके साथ ही कर्मचारियों ने कहा जब तक साथियों की वापसी नही होगी धरना जारी रहेगा कर्मचारियों ने एमडी ज्योति नीरज खैरवाल तानाशाह तक कह डाला। इन बेसहारा हुए कर्मचारियों के आँसू पोंछने के लिए विपक्ष भी तुरंत मौक़े पर आ पहुँचा

वहीं कांग्रेस के पूर्व नगर विधायक राजकुमार इस आंदोलित कर्मचारियों के साथ आकर खड़े नज़र आए उन्होंने कहा कि अगर इनके हितों पर सरकार की अंदेखी इसी तरह चली तो हम बड़ा आंदोलन करेंगे कर्मचारियों के आंदोलन और कम्पलसरी रिटायरमेंट को लेकर विभाग की एमडी ज्योति नीरज खैरवाल का रूख एक दम साफ़ हैं उन्होंने साफ़ कहा कि जो लोग विभाग का काम छोड़कर इस तरह आंदोलन कर काम ठप्प किए हैं उनके ख़िलाफ़ अनुसाशनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

इसके साथ उन्होंने कहा कि जिन लोगों को बाहर किया गया है उनके ख़िलाफ़ शिकायतें फ़ाइलें में दर्ज है जाँच और रिपोर्ट के बाद कार्रवाई की गई है। अब कर्मचारी और सरकार के बीच जंग का ऐलान हो गया है विभाग के दफ़्तर के दरवाज़े के बाहर ये धरना और काम बंदी का कितना असर एमडी और सरकार पर होता है ये वक़्त तय करेगा। लेकिन फ़िलहाल 23 कर्मचारियों की वापसी की उम्मीद एमडी के रूख से बिल्कुल ही शून्य नज़र आ रही है।