उत्तराखंड सरकार को महंत नरेंद्र गिरी की सलाह, प्रयागराज की तरह महाकुंभ की तैयारी  

प्रयागराज: उत्‍तराखंड की त्रिवेंद्र रावत सरकार इस समय चमोली आपदा के राहत एवं बचाव कार्य में लगी है। इसी बीच अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी ने उत्तरखंड सरकार को एक सलाह दे दी है।

यह भी पढ़ें: वैलेंटाइन वीक में स्कूल टीचर ने पुरुषों के लिए नेट पर लगाई संस्कारशाला, पूछे अनूठे सवाल

शनिवार को पत्रकारों से बातचीत में महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि, त्रिवेंद्र सरकार को प्रयागराज के माघ मेले की तर्ज पर कुंभ मेले की तैयारी करनी चाहिए। उन्‍होंने यूपी सरकार की तारीफ करते हुए कहा, योगी सरकार की अच्‍छी व्‍यवस्‍थाओं से कोरोना संक्रमण के बावजूद माघ मेले में लाखों श्रद्धालू संगम में आस्था की डुबकी लगा रहे हैं, जबकि हरिद्वार में होने वाले महाकुंभ को लेकर ऐसी तैयारी देखने को नहीं मिल रही है।

उत्‍तराखंड सरकार के साथ हैं सभी साधु-संत  

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष ने आगे कहा कि, उत्तराखंड सरकार के मुख्यमंत्री और अधिकारी भी प्रयागराज की तरह मेला कराने में सक्षम हैं, लेकिन इसके लिए उन्हें आत्मबल की जरूरत है। उन्‍होंने कहा, सभी साधु-संत और अखाड़ा परिषद उत्तराखंड के मुख्यमंत्री के साथ हैं और कोरोना गाइडलाइन का पालन करने को भी तैयार हैं।

सीएम योगी ने आत्‍मबल से लिया माघ मेले का निर्णय: महंत  

महंत नरेंद्र गिरि ने ये भी कहा कि हरिद्वार महाकुंभ में अभी एक महीने का वक्‍त है। ऐसे में उत्तराखंड सरकार चाहे तो प्रयागराज के अधिकारियों से बातचीत कर मेले की तैयारियों को और बेहतर बना सकती है। उन्‍होंने कहा कि मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने अपने आत्मबल से माघ मेला कराने का निर्णय लिया और उनका निर्णय पूरी तरह से सार्थक साबित हो रहा है। माघ मेले में सनातन धर्म की परंपराओं का पालन करते हुए कार्य किया है, जिसकी सभी श्रद्धालु, कल्पवासी और साधु-संत सराहना कर रहे हैं।

वैलेंटाइन वीक में स्कूल टीचर ने पुरुषों के लिए नेट पर लगाई संस्कारशाला, पूछे अनूठे सवाल

Previous article

Chamoli Disaster: नई झील से डरने की जरूर नहीं, सेटेलाइट से रखी जा रही है नजर- सीएम रावत

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured