January 31, 2023 11:34 am
featured छत्तीसगढ़ राज्य

गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही आज छत्तीसगढ़ राज्य के 28 वें जिले के रूप में आ जाएगा अस्तित्व में

भूपेश बघेल 1 गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही आज छत्तीसगढ़ राज्य के 28 वें जिले के रूप में आ जाएगा अस्तित्व में

रायपुर। नव गठित जिला गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही सोमवार 10 फरवरी को छत्तीसगढ़ राज्य के 28 वें जिले के रूप में अस्तित्व में आ जाएगा। बिलासपुर से 170 किलोमीटर तक इस क्षेत्र के गांवों की दूरी होने के कारण इस क्षेत्र को जिला बनाने की मांग तो कई वर्षों से की जा रही थी, लेकिन 22 वर्ष पहले वर्ष 1998 में अविभाजित मध्य प्रदेश शासन के द्वारा बिलासपुर जिले से अलग करके कोरबा एवं जांजगीर-चाम्पा को जिला बनाने की घोषणा के बाद पेण्ड्रा क्षेत्र को जिला बनाने की मांग और तेजी से उठी थी, जो कि वृहद आंदोलन के रूप में परिवर्तित हो गई थी।

वर्ष 1998 में कोरबा एवं जांजगीर-चाम्पा के साथ ही पेण्ड्रा क्षेत्र को भी जिला बनाने की मांग को लेकर पेण्ड्रा में वृहद आंदोलन भी चला था और चक्काजाम व पेण्ड्रा को बन्द कराने के साथ ही सत्ता में बैठे नेताओं का पुतला दहन भी किया गया था, जिसके बाद कई नागरिकों के विरुद्ध पुलिस के द्वारा आपराधिक मामला दर्ज कर न्यायालय में मामला भी चलाया गया था। जिसके बाद मध्य प्रदेश शासन के तत्कालीन मंत्री एवं क्षेत्रीय विधायक पंडित राजेन्द्र प्रसाद शुक्ल के प्रयास से 3 जुलाई 1998 को पेण्ड्रारोड जिला निर्माण के लिए राजपत्र में अधिसूचना भी प्रकाशित की गई थी।

राज्य शासन ने 14 जनवरी को नया जिला गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही के लिए आईएएस एवं आईपीएस अधिकारियों का नवीन पद स्थापना आदेश जारी कर दिया था, जिसमें 2008 बैच की आईएएस शिखा राजपूत तिवारी को नए जिले में विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी प्रशासन नियुक्त किया गया। इससे पहले शिखा राजपूत बेमेतरा कलेक्टर के पद पर पदस्थ थीं। 10 तारीख को ही शासन ने अलग से आदेश जारी कर 2015 बैच के आईपीएस सूरज सिंह परिहार को नया जिला का विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी (पुलिस) नियुक्त किया। इससे पहले सूरज सिंह दंतेवाड़ा के एडिश्नल एसपी थे। ऐसी सम्भावना है कि ये दोनों अधिकारी नए जिले के पहले कलेक्टर एवं एसपी होंगे। 15 अगस्त 2019 को रायपुर में ध्वजारोहण करने के बाद छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही के नाम से नया जिला गठन करने की घोषणा मंच से की थी। जोकि उन्हीं के मुख्य आतिथ्य में 10 फरवरी को अस्तित्व में आ रहा है।

गौरेला पेण्ड्रा मरवाही नए जिले का

राजपत्र में प्रकाशन 30 दिसंबर 2019 को किया गया। इस प्रकाशन के बाद यह स्पष्ट हो गया कि 10 फरवरी नया जिला अस्तित्व में आ जाएगा जो कि सोमवार को अस्तित्व में आ रहा है। नए जिले का उद्घाटन 10 फरवरी को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के द्वारा किया जाएगा। जिसकी अध्यक्षता विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत करेंगे। इस दौरान विशिष्ट अतिथि के रूप में छत्तीसगढ़ विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष धरम लाल कौशिक, गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, कोरबा सांसद ज्योत्सना महंत, पूर्व मुख्यमंत्री एवं स्थानीय विधायक अजीत जोगी एवं कोटा विधायक डॉ. रेणु जोगी, बिलासपुर सांसद अरुण साव, तखतपुर विधायक रश्मि सिंह, बिलासपुर विधायक शैलेश पांडे, बेलतरा विधायक रजनीश सिंह, मस्तूरी विधायक कृष्णमूर्ति बांधी एवं पाली तानाखार विधायक मोहित केरकेट्टा होंगे।

Related posts

JDU नेता की फायरिंग से महिला की मौत, नेता गिरफ्तार

Ankit Tripathi

कर्नाटक अपडेट कर्नाटक मे 1843 नए संक्रमित मिले

Kumkum Thakur

मुस्लिम वाले बयान पर मेनका गांधी को मिला नोटिश, भाजपा की आईटी सेल पर ही खफा हो गईं मैडम

bharatkhabar