Breaking News featured यूपी

राजनीति: यूपी की सरकार-संगठन का मन टटोलकर आज दिल्ली लौटेंगे बीएल संतोष, अब दिल्ली में परिवर्तन पर फैसला लेंगे दिग्गज

AS 9 राजनीति: यूपी की सरकार-संगठन का मन टटोलकर आज दिल्ली लौटेंगे बीएल संतोष, अब दिल्ली में परिवर्तन पर फैसला लेंगे दिग्गज

उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार और संगठन में बदलाव की जोरदार चर्चाओं के बीच केन्द्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष ने दो दिन तक मंत्री और नेताओं का मन टटोला। अब दिल्ली में महामंथन के बाद यूपी में परिवर्तन की चर्चाएं तेज हो गई हैं।

भाजपा के केन्द्रीय संगठन महामंत्री बीए संतोष ने अपने दो दिवसीय लखनऊ दौरे में सरकार के सभी मंत्रियों और प्रमुख पदाधिकारियों का मन टटोला। सूत्रों की मानें तो यूपी में परिवर्तन की सभी संभावनाओं पर उन्होंने सभी जिम्मेदारों के साथ अकेले में खुलकर बातचीत की।

यह जानने और समझने की कोशिश की कि यूपी में वास्तव में चल क्या रहा है और चुनावी साल में कहां और किस हद तक बदलाव की संभावना है। जिससे जनता को बदलाव नजर आए, उसका गुस्सा शांत हो और संगठन व सरकार में भी सबकुछ बैलेंस रहे।

कोरोना के जख्म भरना सबसे बड़ी चुनौती

सरकार के लिए सबसे बड़ी चुनौती जनता को कोरोना से मिले दर्द को भुलाना है। कोरोना की दूसरी लहर में हर इंसान ने अपने परिवार के किसी सदस्य, किसी रिश्तेदार या दोस्त को खोया है। जब जिम्मेदार लोग पंचायत और बंगाल के चुनाव में व्यस्त थे, उस वक्त जनता ने सरकारी सिस्टम की नाकामी को बहुत करीब से देखा, समझा और साथ ही जिम्मेदारों की सुस्ती का खामियाजा भी भुगता। हालांकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बाद में सबकुछ ठीक कर दिया। मगर, जनता के दिल में हुए पुराने जख्म भरने में अभी वक्त लगेगा।

अपना दल को लेकर भी शुरू हुआ चर्चाओं का दौर

भाजपा सरकार में फेरबदल की चर्चाओं के बीच यह चर्चा भी जोर पकड़ रहीं है कि अपना दल भाजपा से नाराज है। दरअसल अपना दल को इस बार केन्द्र और प्रदेश सरकार में उतना महत्व नहीं मिला जितना कि मिलना चाहिए था। सपा समेत बाकी राजनीतिक दल भी अपना दल की तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ाते नजर आ रहे हैं। ऐसे में कोई बड़ा उलटफेर हो सकता है। हालांकि इसकी अभी सिर्फ चर्चा है। किसी ने पुष्टि नहीं की है।

सक्रिए हुए अरविंद शर्मा, जनता के बीच जाकर कर रहे काम

फेरबदल और ताजपोशी की चर्चाओं के बीच आईएएस अरविंद शर्मा सक्रिय हो गए हैं। कोरोना काल में वह जनता के बीच जाकर काम कर रहे हैं। लोगों को लगातार राहत सामग्री भी बांट रहे हैं। कुछ समय से वह सोशल मीडिया पर भी काफी सक्रिय हैं। उनके समर्थकों ने उन्हें राजनीति में बड़ा पद देने के लिए सोशल मीडिया में अभियान भी छेड़ रखा है। अरविंद शर्मा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पसंद हैं। ऐसे में देर सवेर उनकी किसी अहम पद पर ताजपोशी तय मानी जा रही है।

दिल्ली के महामंथन में होगा फैसला-यूपी में बदलाव होगा कि नहीं

भाजपा के मंत्री नेताओं के साथ बैठक करने के बाद केन्द्रीय संगठन महामंत्री ने आरएसएस के नेताओं के साथ बैठक की। सबकी बात सुनने के बाद वह यूपी का फीडबैक दिल्ली में संघ और भाजपा के दिग्गजों के सामने रखेंगे। दिग्गजों के महामंथन में यह तय होगा कि यूपी में कोई बदलाव होगा कि नहीं। सूत्रों की मानें तो 15 जून से पहले बदलाव की आंधी आ सकती है। किसके पास क्या जाएगा, किससे क्या छिनेगा, यह साफ होने में अभी कुछ वक्त लगेगा।

हालांकि कुछ लोग यह दावा भी कर रहे हैं कि बीएल संतोष अपने पहले से तय दौरे के तहत ही लखनऊ आए थे। उन्होंने आने वाले चुनाव को लेकर सबसे विस्तार से बात की। ऐसे में परिवर्तन की कोई बात नहीं है। प्रदेश में सबकुछ सामान्य है। जब सब अच्छा चल रहा है तो फिर बदलाव क्यों होगा।

Related posts

बीजेपी का नया नाम ‘भूमिगत जनविरोधी पार्टी’ – अखिलेश यादव

sushil kumar

गोवाः फ्लोर टेस्ट में पास हुए पर्रिकर, मिला 22 विधायकों का समर्थन

kumari ashu

सरकार का विरोध करने पर पिटे सपा कार्यकर्ता, पुलिस ने भांजी लाठी

Pradeep sharma