आप सरकार के मंत्री जितेन्द्र तोमर की डिग्री हुई रद्द

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल को एक के बाद एक बुरी खबरें ही सुनने को मिल रही है पहले विधानसभा चुनावों में उन्हें शिकस्त का सामना करना पड़ा और इस बार उनके मंत्री की डिग्री रद्द हो गई है। दरअसल, तिलका मांझी भागलपुर विश्वविद्यालय (टीएमबीयू) की सीनेट ने आम आदमी पार्टी (आप) सरकार के पूर्व कानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर की कथित एलएलबी की डिग्री रद्द कर दी है। सोमवार को हुई सीनेट की बैठक में इस पर मुहर लगाई गई। टीएमबीयू अब जल्द इसकी अधिसूचना जारी करेगा।

इस संबंध में टीएमबीयू के प्रो-वाइस चांसलर ए के रॉय ने बताया कि यूनिवर्सिटी सिंडीकेट ने परीक्षा बोर्ड के निर्णय को स्वीकार कर लिया है। इसके तहत आप विधायक और दिल्ली के पूर्व मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर की एलएलबी की डिग्री रद्द कर दी गई है। सोमवार को हुई सीनेट की बैठक में प्रभारी कुलपति क्षमेंद्र कुमार सिंह ने इसका ​निर्णय लिया।

इससे पहले पूर्व कुलपति प्रो. रमाशंकर दूबे की अध्यक्षता में गत 3 दिसंबर को हुई बैठक में तोमर की डिग्री रद्द करने का फैसला लिया गया था और उस पर अंतिम निर्णय के लिए मामले को राज्यपाल सह कुलाधिपति के पास भेजा गया था। लेकिन राजभवन ने इस काम के लिए सीनेट को अधिकृत कर दिया था और 20 मार्च को बैठक बुलाने की इजाजत दी थी। इससे पहले विश्वविद्यालय के परीक्षा विभाग ने 2 दिसंबर को बैठक में तोमर की डिग्री रद्द करने की सिफारिश सिंडिकेट को भेजी थी। जिसमें मामले में आरोपी 14 अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ भी कार्रवाई की अनुशंसा की गई थी।

गौरतलब है कि अरविंद केजरीवाल सरकार में कानून मंत्री रहे तोमर को पिछले साल दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया था। तोमर पर आरोप था कि उनकी डिग्री फर्जी है। जिसके चलते उन्हें 2015 में मंत्रीपद से इस्तीफा देना पड़ा था। तोमर फिलहाल पर जमानत पर हैं।