शीतकालीन पर्यटन के लिए हरीश सरकार का प्लान

देहरादून। सूबे की हरीश सरकार प्रदेश में 2013 की आपदा के बाद पर्यटन उद्योग में आई कमी को दूरे करने के प्रयास पर सतत प्रयत्न शील है। सूबे की कमाई का बड़ा जरिए पहाड़ पर पर्यटन के जरिे निकला था। लेकिन आपदा के बाद इस व्यवसाय ने लोगों को खासा निराश किया है।

Harish Rawat

अब हरीश रावत सरकार इस दिशा में लगातार काम कर रही है। अब उसने मुखवा और पांडुकेश्वर में भगवान बद्रीनाथ और मां गंगा के दर्शनों के लिए शीतकाल में ब्रदीनाथ धाम दर्शन योजना को शुरू करने का मन बनाया है। इस योजना के लिए सीएम रावत ने पर्यटन विभाग को सारी तैयारियां चाक चौबंद करने की निर्देश दिये हैं। सरकार इस योजना को एक कैंपेन के तौर पर शुरू कर रही है।

इस योजना में स्थानीय पर्यटन को बढावा देने के साथ ही दर्शनार्थियों के लिए स्पेशल पैकेज भी घोषित किया जायेगा। सीएम के इस प्रोजेक्ट में अगर प्राइवेट संस्थाएं भी भागेदारी करेंगी तो हेली सर्विस योजना के तहत ये प्रोजेक्ट सरकार ला सकती है। अगर सब ठीक ढंग से हुआ तो सरकार इसे इसी हफ्ते के अंत तक शुरू कर सकती है।