शिवपाल लगातार ले रहें हैं तैयारी का जायजा

लखनऊ। अखिलेश की रथयात्रा के बाद अब समाजवादी कुनबा एक बार फिर कमर कस चुका है। ये तैयारी कल होने वाले पार्टी के रजत जयंती समारोह को लेकर है। जिसको लेकर सूबे में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव लगातार बैठकों पर बैठक और मार्ग दर्शन का दौर जारी रखें हुए हैं। क्योकि यह समारोह ही नहीं बल्कि पार्टी का अब तक का सबसे बड़ा शक्ति प्रदर्शन है। अखिलेश तो यात्रा का आगाज कर अपना शक्ति प्रदर्शन दिखा चुके हैं। अब बारी शिवपाल यादव के शक्ति प्रदर्शन की है।

shivpal-yadav

जिसको लेकर आज सुबह ही पार्टी कार्यालय पर यूथ ब्रिगेड की बैठक आहुत हुई। जिसमें शिवपाल ने कार्यक्रताओं को दिशा निर्देश दिए। हांलाकि आज सुबह से ही पार्टी कार्यालय के बाहर युवाओं और शिवपाल के समर्थकों का हुजूम शक्ति प्रदर्शन के मूड में दिख रहा था। समारोह को लेकर शिवपाल से जब सवाल हुए तो उन्होने कहा कि रजत जयंती समारोह की सारी तैयारियां पूरी की जा चुकी हैं। ये आयोजन देश में सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ बड़ा संदेश होगा क्योंकि इस समारोह में लगभग सभी धर्मनिरपेक्ष नेताओं की मौजूदगी होगी। यहां एक मंच पर हम सब एकत्रित होकर देश से भाजपा की को उखाड़ फेकेंगे। प्रदेश में सपा की धर्मनिरपेक्ष सरकार 2017 में वापसी करेगी। अखिलेश की रथयात्रा और रजत जयंती समारोह ने एक बार फिर धर्मनिरपेक्ष नेताओं को एक छत के नीचे ला दिया है।

कार्यक्रम की रूपरेखा और अतिथियों के बिषय में शिवपाल ने बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा, राजद के अध्यक्ष लालू यादव,राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष अजित सिंह, जेडीयू के नेता शरद यादव, हरियाणा से अभय चौटाला, वरिष्ठ अधिवक्ता राम जेठमलानी, राज्यसभा सदस्य केसी त्यागी के अलावा सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मौजूद रहेंगे।