विपक्ष ने कहीं सराहा तो कहीं हुआ हमलावर

लखनऊ। प्रदेश में आज सुबह से सियासी पारा खासा ही गरम रहा । कल शाम को ही जब मुलायम सिंह आवास पर बैठक के बाद मुलायम ने कहा था कि आज नहीं कल बोलूंगा तो ये साफ हो गया था कि प्रदेश की राजनीति में कोई बड़ा धमाका होने वाला है।

akhlesh_mulayam

आज जब सुबह पार्टी कार्यालय पर हुए समाजवादी परिवार के सियासी ड्रामे के बाद अखिलेश को लेकर जो सुर पहले कभी बागी हुआ करते थे वे अखिलेश को बेहतर मानते हुए उनके साथ खड़े नजर आने लगे। तो कई सपा परिवार पर हुए विवाद पर अखिलेश और नेताजी पर तंज और शब्दों के बाण चलाते नजर आये।

भाजपा के सुधाशु त्रिवेदी ने जहां इसे पुत्र के प्रति नेताजी का मोह को बताया इस झगड़े की जड़ वहीं कांग्रेस ने कहा कि हम इस समय अखिलेश के साथ पूरी सहानभूति रखते है। हम अखिलेश के साथ खड़े है। वहीं भाजपा के ओम माथुर ने इसे गलत करार देते हुए कहा इससे पार्टी का छवि के साथ अखिलेश की छवि को नुकसान पहुंचा है।

फिलहाल विपक्ष के तंज और पार्टी की कलह तो मुलायम और अखिलेश झेल ही रहे हैं। पर अब सबसे बड़ी चिन्ता है आगामी विधान सभा चुनावों की क्योंकि उनका ये रगड़ा जनता के सामने एक बड़े घमासन के तौर पर उबरा है।