मोदी के कालेधन उजागर करने की मुहिम लाई रंग, जलते मिले नोट

लखनऊ। देश से कालेधन को बाहर निकालने और कालेधन को रखने वालों को बेनकाब करने की प्रधानमंत्री मोदी की मुहिम रंग लाती दिख रही है। बड़े पैमाने पर दो नंबर के पैसे रखने वालों की नींदे हराम हो गई हैं, इसका प्रत्यक्ष परिणाम देखने को मिला है। खबर उत्तर प्रदेश के बरेली से है, जहां से भारी मात्रा में कालेधन का मामला सामने आया है। बरेली के परसा खेड़ा के रोट पर 500 और 1000 के नोटों से भरे बोरे जलते पाए गए हैं।

indian_note_fire

बोरों में भरे जलते नोटों ने पूरे इलाकेंा में सनसनी मचा दी है, लोगों ने इसकी खबर स्थानीय पुलिस को दी एक पल को तो कोई इस पर विश्वास करने को तैयार नहीं था, बाद में पुलिस ने स्थान पर पहुंच कर जले नोटों और बोरे को प्रयोगशाला में जांच के लिए भेज दिए हैं। बताया जा रहा है कि जलते नोटों का खेप शहर के एक बड़े उद्योगपति के फैक्ट्री के बाहर पाया गया है।

इस मामले पर स्थानीय पुलिस का दावा है कि यह किसी बड़े कारोबारी का काम है जिससे कि नोटों का जखीरा संभाला नहीं गया और जब उसे लगा कि उसका नाम सबके सामने आ जाएगा, तो उसने पहले तो अपने काले धन की राशि को कतरन करवाया और बाद में बोरों में भरकर आग के हवाले कर दिया। बताया जा रहा है कि ऐसे तीन बोरे पाए गए हैं कि जिसमें नोट भरे हुए थे और जल रहे थे, ऐसे में अनुमान लगाए जा रहे हैं कि जलाए गए नोट करोड़ों के हो सकते हैं।