राजकोट टेस्ट : जीत के साथ सीरीज की शुरुआत के इरादे से उतरेगा भारत

राजकोट| टेस्ट में नंबर-1 टीम भारत बुधवार से शुरू हो रही पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला के पहले मैच में बुधवार को इंग्लैंड के खिलाफ अपने विजयी क्रम को जारी रखने और पिछली श्रृंखला में मिली हार का बदला लेने के इरादे से उतरेगी। श्रृंखला का पहला मैच राजकोट स्थित सोराष्ट्र क्रिकेट संघ स्टेडियम में खेला जाएगा।इंग्लैंड का हाल ही में बांग्लादेश के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की श्रृंखला 1-1 से ड्रॉ रही। बांग्लादेश के खिलाफ इंग्लैंड का प्रदर्शन निराशाजनक रहा था। पहले टेस्ट में वह एक समय बांग्लादेश से कमजोर दिख रही थी जबकि दूसरे मैच में बांग्लादेश ने उसे करारी शिकस्त दी।

test-team

बांग्लादेश दौरे पर इंग्लिश बल्लेबाजों की स्पिन के खिलाफ कमजोरी उजागर हो चुकी है। लेकिन कप्तान एलिस्टर कुक 2012 में भारत में मिली 2-1 से जीत की ओर खिलाड़ियों का ध्यान ले जाकर उन्हें प्रेरित करना चाहेंगे।दूसरी ओर 2012 में इंग्लैंड के खिलाफ मिली हार भारत की घरेलू धरती पर आखिरी टेस्ट हार रही। उसके बाद भारत ने घरेलू श्रृंखलाओं में आस्ट्रेलिया, वेस्टइंडीज, दक्षिण अफ्रीका और हाल ही में न्यूजीलैंड को मात दी है। कुक का मानना है कि उनकी टीम के सामने मुश्किल चुनौती है।

राजकोट टेस्ट की पूर्व संध्या पर कुक ने कहा, “हमारे उन खिलाड़ियों के लिए यह दौरा कड़ी चुनौती होगी, जिन्होंने इससे पहले भारतीय उपमहाद्वीप में नहीं खेला है।”भारत के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में उतरने के साथ ही कुक इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल एथर्टन के 54 टेस्ट मैचों में कप्तानी करने के रिकार्ड को भी तोड़ देंगे। राजकोट टेस्ट कुक के करियर का 55वां टेस्ट होगा।इंग्लैंड के लिए इस श्रृंखला में सबसे बड़ी चुनौती मौजूदा दौरे के दुनिया के शीर्ष ऑफ स्पिन गेंदबाजों में शुमार रविचंद्रन अश्विन होंगे। अश्विन के अलावा अमित मिश्रा और रवींद्र जडेजा भी घरेलू मैदान पर इंग्लैंड को खासा परेशान करने की क्षमता रखते हैं।

इंग्लैंड के लिए एक अच्छी खबर है कि तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन पूरी तरह स्वस्थ हो टीम के साथ जुड़ गए हैं, हालांकि वह राजकोट टेस्ट मैच में नहीं खेलेंगे। इंग्लैंड के पास उच्च स्तर का तेज गेंदबाजी आक्रमण है जिसमें स्टुअर्ट ब्रॉड, स्टीवन फिन, क्रिस वोक्स और हरफनमौला खिलाड़ी बेन स्टोक्स शामिल हैं। स्पिन गेंदबाजी में इंग्लैंड की कमान मोइन अली संभालेंगे, जबकि गारेथ बैटी, जफर अंसारी और आदिल राशिद उनका साथ देंगे।

वहीं मेजबान भारतीय टीम इस समय शानदार फॉर्म में हैं। कप्तान विराट कोहली इंग्लैंड के खिलाफ अपने रिकार्ड को बेहतर करना चाहेंगे। उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे, मुरली विजय, गौतम गंभीर, चेतेश्वर पुजारा सभी इस समय अच्छी फॉर्म में हैं और न्यूजीलैंड के खिलाफ श्रृंखला में बेहतरीन फॉर्म में नजर आए। चोटिल रोहित शर्मा की जगह कर्नाटक के बल्लेबाज करुण नायर या बड़ौदा के हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या टेस्ट पदार्पण कर सकते हैं।यह भारत में पहली ऐसी टेस्ट श्रृंखला होगी जिसमें निर्णय समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) का उपयोग किया जाएगा। जिसे अपनाने में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) लगातार पीछे हटता आ रहा था।

संभावित टीमें : भारत :- विराट कोहली (कप्तान), मुरली विजय, गौतम गंभीर, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे (उप-कप्तान), रविचंद्रन अश्विन, रिद्धिमान साहा (विकेटकीपर), रवींद्र जडेजा, अमित मिश्रा, मोहम्मद समी, ईशांत शर्मा, उमेश यादव, हार्दिक पांड्या, करुण नायर, जयंत यादव।

इंग्लैंड : एलिस्टर कुक (कप्तान), जॉनी बेयरस्टो, जैक बॉल, गैरी बालांस, गारेथ बैटी, स्टुअर्ट ब्रॉड, जोस बटलर, बेन डकेट, स्टीवन फिन, हासिब हमीद, मोइन अली, जफर अंसारी, आदिल राशिद, जोए रूट, बेन स्टोक्स, क्रिस वोक्स।