कॉल ड्राप पर टेलीकॉम कंपनियों के सीईओ से मिलेंगे सिन्हा

नई दिल्ली| कॉल ड्राप के मुद्दे पर स्थिति की जानकारी लेने के लिए केंद्रीय संचार मंत्री मनोज सिन्हा एक नवंबर को टेलीकॉम कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों से मिलेंगे। दूरसंचार सचिव जे.एस. दीपक ने संवाददाताओं से कहा, “कॉल ड्रॉप पर वस्तुस्थिति की जानकारी लेने और भावी कार्ययोजना तैयार करने के लिए मंत्री एक नवंबर को टेलीकंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों से मिलेंगे।

call-drop

वह शुक्रवार को यहां एक कार्यक्रम के इतर संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने कॉल ड्राप की स्थिति में ठोस सुधार होने की जानकारी दी है। दीपक ने आगे कहा, “दिसंबर, 2015 में 54 नेटवर्क मानक के अनुरूप काम नहीं कर रहे थे, जो घटकर 19 हो गए हैं।” टेलीकॉम कंपनियों ने कॉल ड्राप में सुधार के लिए सरकार को गत जून महीने में सौ दिवसीय कार्ययोजना सौंपा था।

सेवा प्रदाता कंपनियां 12 हजार करोड़ रुपये की लागत से 60,000 बेस ट्रांसीवर स्टेशन (बीटीएस) स्थापित करने को प्रतिबद्ध हैं। केंद्रीय संचार मंत्री मनोज सिन्हा ने गत 25 जुलाई को कहा था, “उन्होंने आश्वासन दिया कि दूरसंचार सचिव को दिए गए वचन के अनुरूप सौ दिवसीय कार्यक्रम के लक्ष्य पूरे होंगे। उन लोगों ने संकेत दिए कि 10 जून के बाद 45 दिनों में ही 45,000 बीटीएस स्थापित कर दिए गए थे, जबकि 100 दिनों में देश भर में 60,000 बीटीएस स्थापित करने का लक्ष्य है।