मध्यप्रदेश की बदली है तस्वीर, हर क्षेत्र में हुई है प्रगतिः जेटली

इंदौर| केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने मध्य प्रदेश को तेजी से विकास की राह पर बढ़ता राज्य बताते हुए कहा कि 13 साल पहले यह प्रदेश बीमारू राज्य हुआ करता था, यहां सड़क, पानी और बिजली की बड़ी समस्या थी, मगर इस अवधि में राज्य की तस्वीर बदली है और अब यह औद्योगिक केंद्र के तौर पहचाना जाने लगा है। मध्य प्रदेश के इंदौर के ब्रिलिएंट कन्वेंशन सेंटर में दो दिवसीय वैश्विक निवेशक सम्मेलन (ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट) के उद्घाटन अवसर पर शनिवार को जेटली ने बदलते राज्य की कहानी को अपने तरह से व्यक्त किया।

arun-jeitly

जेटली ने वर्ष 2003 में हुए विधानसभा चुनाव का जिक्र किया, तब जेटली पार्टी के प्रदेश प्रभारी हुआ करते थे। उन्होंने कहा, “उस समय सड़कों का बुरा हाल था, बिजली कुछ घंटों के लिए आया करती थी, भोपाल से इंदौर की सड़क पर यात्रा भी मुश्किल भरी थी। बीते 13 वर्षो में यहां की तस्वीर बदली है। यहां की कृषि विकास दर बढ़ रही है।”

नर्मदा नदी के पानी को क्षिप्रा नदी में मिलाए जाने का जिक्र करते हुए जेटली ने कहा, “यह पानी के परिवहन की सफलता की कहानी है। वहीं बिजली का उत्पादन बढ़ा है। अधोसंरचना में सुधार आया है, शिक्षा के संस्थान स्थापित हुए हैं।इससे पहले जेटली ने केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद, इस्पात मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मौजूदगी में दीप प्रज्ज्वलित कर दो दिवसीय वैश्विक निवेशक सम्मेलन का उद्घाटन किया। इस सम्मेलन में देश और दुनिया के तीन हजार से ज्यादा औद्योगिक क्षेत्रों के प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे हैं।