जनता के रूख को भांप रहे हैं पीएम मोदी

लखनऊ। सूबे में ठंड की आमद ने चारों ओर कुहांसे से घेरा था। प्रदेश में समाजवादी परिवार के बीच मचे सियासी कोहराम की गरमाहट एक अस्थिरता का माहौल बना रही थी। ऐसे में सूबे की जनता की अभूतपूर्व भीड़ ने प्रदेश में एक बार फिर मोदी के नाम का जयघोष कर डाला है। वाकिया था सूबे की राजधानी लखनई में साल 2017 की शुरूआत में होने वाली प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की परिवर्तन रैली का।

सूबे में विधान सभा चुनाव का रण सज चुका है। सभी दल अपनी-अपनी तैयारियों में लगे है। यूपी का रण देश की नजर पर रहता है। क्योकि यहीं से दिल्ली की सत्ता का रास्ता खुलता है। इसी रण को साधने के लिए रमाबाई मैदान में विशाल जनसमूह को देख पीएम मोदी ने पहले जो अभिवादन से अपने भाषण की शुरूआत की । इसके बाद पहले नोटबंदी पर अपने और देश के लोगों के विचारों को रखते हुए । इस फैसले की खिलाफत करने वालों को जमकर धोया। पीएम ने अपने सम्बोधन में कहा कि ना भ्रष्ट्राचार को रहने देंगे और ना ही पनपने देंगे। देश की जनता को लम्बे समय से इन कालेधन वालों पर कार्रवाई का इंतजार था। जो कि आज हमने कर दिखाया है।

इसके बाद पीएम ने अपने चिर-परिचित अंदाजा में विपक्षी दलों पर हमला बोलना शुरू कर दिया। पहला हमला था कांग्रेस पर पीएम ने कहा कि कांग्रेस राज्य में केवल अपना विकास की बात होती थी । लेकिन हमारा उद्देश्य सबका साथ सबका विकास है। हमें इसी उद्देश्य पर काम करना है।भाजपा सरकार इसी पर काम करती रहेगी । फिर बारी थी बसपा और सपा की दोनों की जुगलबंदी पर पीएम मोदी ने जमकर प्रहार किया। उन्होने कहा कि इन दोनों दलों ने मिलकर प्रदेश को केवल लूटा है।

जनता के विकास के पैसे से अपने महल खड़े किये है। आज प्रदेश की जनता रोजगार के लिए विकास के लिए मकान के लिए आधारभूत सुविधाओं के लिए तरस रही है। समाजवादी पार्टी पर हमला बोलते हुए कहा कि ये सिर्फ ड्रामेबाजी करने में लगे हैं। जिनसे परिवार नहीं सभंल रहा है। वो देश और प्रदेश संभालने की बात कर रहे हैं।

उन्होने ने सूबे की जनता से आग्रह करते हुए कहा कि मै आपका प्रधान सेवक आपसे आग्रह करता हूं कि भाजपा के 14 साल के वनवास को खत्म कर सत्ता में लाइये मै वादा करता हूं प्रदेश में विकास ही विकास दिखेगा। आज की इस रैली में सूबे की जनता की इस अभूतपूर्व भीड़ ने ये साबित कर दिया है कि प्रदेश की जनता अब परिवर्तन चाहती है। ये परिवर्तन केवल भाजपा के पास है। क्योंकि यूपी का भाग्य बदले बिना देश आगे नहीं बढ़ सकता, इस बार जात-पात से ऊपर उठकर विकास के नाम पर वोट दें।

अजस्रपीयूष