समाजवादी महाभारत: अपना का अपनों पर वार

लखनऊ। आज सुबह से सूबे का सियासी पारा काफी गरम रहा है । सूबे और समाजवादी पार्टी सरकार के मुखिया अखिलेश यादव ने पार्टी के भीतर चल रहे महाभारत का पटाक्षेप करते हुएनई पार्टी बनाने की अटकलों को खारिज करते हुए। पार्टी और सरकार पर अपने नियंत्रण को मजबूत करते हुए शिवपाल यादव समेत 4 मंत्रियों को कैबिनेट से बर्खास्त कर दिया।

sapa_mahabharat

परिवारिक महाभारत पर अखिलेश का एक्शन

समाजवादी परिवार में छिड़े महाभारत में आज सीएम अखिलेश पूरे एक्शन फार्म में दिखे । उन्होने बैठक में साफ किया कि वो अपने विरोधियों को किसी भी कीमत में छोड़ने के मूड में नहीं हैं। अखिलेश ने अपना एक्शन फार्म दिखाते हुए शिवपाल के साथ नारद राय, ओम प्रकाश सिंह और सादाब फातिमा को बाहर का रास्ता दिखाया। अखिलेश ने अमर सिंह की करीबी जया प्रदा को यूपी फिल्म डेवलपमेंट काउंसिल से हटा। उनसे भी लालबत्ती छीन ली। अखिलेश का एक्शन फार्म यहां तक ही नहीं रूका उन्होने परिवार में गतिरोध पैदा करने का आरोप अमर सिंह पर लगाते हुए कहा की जो अमर सिंह के साथ हैं वो हटाए जाएंगे।

अमर सिंह पर अखिलेश का निकला गुस्सा

समाजवादी पार्टी में मचे घमासान में अहम किरदार निभाने का दोषी मानते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि वे नातो पार्टी नहीं तोड़ेंगे, पार्टी के साथ ही साथ रहेंगे और साजिश करने वालों पर अब एक्शन लिया जायेगा। इसी के साथ ही अमर सिंह की करीबी जयप्रदा की लालबत्ती छिनते हुए उनको दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री के पद से मुक्त कर अमर सिंह को मैसेज दिया कि पार्टी और प्रदेश दोनों में अखिलेश की बात ही ऊपर रखी जायेगी। अमर सिंह पर इस महाभारत का ठीकरा फोड़ते हुए कहा कि अमर सिंह का साथ देने वालों पर अब एक्शन होगा। उन्होंने कहा कि अमर सिंह पार्टी को कमजोर करने का काम कर रहे हैं।

पिता के लिए हुए भावुक

जिसके बाद समाजवादी कुनबे में तूफान सा खड़ा हो गया। लेकिन अखिलेश ने पार्टी के विधायकों के साथ अपने आवास पर हो रही मीटिंग में ये कहते हुए साफ किया कि पार्टी में हो रही साजिश को वो हर कीमत पर बेनकाब करेंगे। इसके बाद अखिलेश ने कहा कि मुलायम सिंह यादव मेरे नेता हैं और रहेंगे, पार्टी में ही रहूंगा, तोड़ने की बात गलत है।अखिलेश ने भावुक अंदाज में कहा कि साजिश करने वालों पर एक्शन लिया, रथ चलेगा, कार्यक्रम ने जाऊंगा। अखिलेश ने भावुक अंदाज में बोलते हुए कहा कि नेताजी पिता है मैं हमेशा उनकी सेवा करूंगा।

अखिलेश के एक्शन के बाद मुलायम रिएक्शन

प्रदेश में समाजवादी परिवार में सीएम अखिलेश का बड़ा एक्शन लेने के बाद सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह के आवास पर सपा के बड़े नेताओं का जमावड़ा लग गया। अखिलेश के एक्शन अवतार से सकते में आये समाजवादी नेताओं ने सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह के साथ बैठक कर पार्टी में जारी गतिरोध पर चर्चा की। चर्चा के बाद सपा सुप्रीमो ने एक्शन के उत्तर में रिएक्शन का मन बनासपा मुखिया ने आनन-फानन में निर्यण लेते हुए । अखिलेश के एक्शन का ठीकरा रामगोपाल पर फोड़ उन्हे पार्टी से 6 साल के लिए बाहर कर दिया।

रामगोपाल पर शिवपाल का कोप

रामगोपाल के निस्कासन के बाद सपा के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने प्रेस करते हुए। इस बात की जानकारी दी। उन्होने कहा कि रामगोपाल यादव बीजेपी के लिए काम कर रहे हैं, यादव सिंह मामले में उनके बेटे बहू के खिलाफ CBI जांच चल रही है, 3 बार वो बीजेपी के बड़े नेताओं से मिले। रामगोपाल ने पार्टी तोड़ने का काम किया है। माननीय नेता की के निर्देश पर उन पर कार्रवाई की गई है। उन्हे 6 साल के लिए पार्टी से बाहर कर दिया है।

निस्कासन के बाद रामगोपाल का प्रलाप

समाजवादी पार्टी में मची महाभारत के बाद सपा मुखिया ने जब रामगोपाल को पार्टी से बाहर करने का फरमान सुनाया तब समूचा सपा परिवार स्तब्ध रह गया। लेकिन अपने निस्कासन पर अपनी सफाई में बोलते हुए रामगोपाल ने कहा कि पार्टी से निकले जाने का दुख नहीं, झूठे आरोपों से पीड़ा हुई है। साथी ही ये भी कहा कि CBI की कोई जांच मुझ पर या परिवार पर नहीं है ऐसी बयानबाजी से मैं आहत हुआ हूं।

आज दिन भर प्रदेश में चले समाजवादी परिवार के इस महाभारत में एक तरफ अखिलेश ने अपनों पर वार किया तो अपनों ने ही अपनों पर वार कर पूरे समाजवादी परिवार की नींव हिला दी। जिसके बाद सपा सुप्रीमो ने समाजवादी परिवार की कोर ग्रुप की बैठक आनन-फानन में अपने आवास पर बुलाई।

piyush-shukla(अजस्रपीयूष शुक्ला, संवाददाता)