सिया के राम के सेट पर दिल्ली की अन्वी बंसल के खास पल

स्टार प्लस का पौराणिक शो ‘सिया के राम’ शुरुआत से ही दर्शकों का पसंदीदा रहा है। शो का कांसेप्ट रामायण की कथा को सीता के नजरिये से दिखाता है और इसने दर्शकों की बहुत तारीफें हासिल कर रहा है जो इसका एक भी एपिसोड नहीं छोड़ना चाहते।

DSC_0385

सिया के राम की ऐसी ही एक प्रशंसिका है दिल्ली की 6 वर्षीय अन्वी बंसल। उन्होंने शो को सोमवार से रविवार यानि रोजाना से सिर्फ हफ्ते में पांच दिन किए जाने की शिकायत करते हुए पत्र लिखा है। ऐसी अनूठी गुजारिश को चैनल ने गंभीरता से लिया और सीता की प्रशंसिका अन्वी को हैदराबाद में सिया के राम के सेट पर शो की शूटिंग देखने और

कलाकारों से मिलने के लिए बुलाया गया। इस बच्ची ने राम (आशीष शर्मा), लक्ष्मण (करण सूचक), हनुमान (दानिश अख्तर) और अपनी पसंदीदा सीता (मदिराक्षी) समेत सभी कलाकारों से मुलाकात की। उसने सभी कलाकारों के साथ खुशी से तस्वीरें खिंचवाईं और वह शूटिंग होती देखकर बेहद खुश थी।

इसके बारे में बात करते हुए सीता की भूमिका निभाने वाली मदिराक्षी ने कहा, ‘‘इस शो के जरिए हम सीता को एक मजबूत और साहसी महिला के रूप में चित्रित करना चाहते हैं। जब कोई 6 साल की बच्ची सीता के व्यक्तित्व से प्रेरित होती है और कहती है कि सीता उसकी प्रेरणा हैं तो इस बात का बहुत गहरा मतलब होता है। जबसे मैंने अन्वी के बारे में सुना, मैं उससे मिलने के लिए बेहद बेताब थी और मैंने सेट पर उसके स्वागत की बहुत सारी तैयारियां कर रखी थीं। वह मेरे लिए एक खूबसूरत कार्ड लेकर आई थी और उसने सेट पर काफी वक्त बिताया।

दूसरी खास बात है कि वह रामायण के सारे अनछुए पहलुओं को देखती है जो हम अपने शो के जरिए लोगों तक पहुंचाना चाहते थे। उसकी इस बात ने मुझे भावुक कर दिया। उसका यहां आना और हम सबसे मिलना मुझे दिल में एक खुशनुमा एहसास की तरह है।’’

राम की भूमिका निभाने वाले आशीष शर्मा की राय भी ऐसी ही थी, ‘‘हम अपना संदेश न सिर्फ उन दर्शकों तक पहुंचा पा रहे हैं जो रामायण से परिचित हैं बल्कि एक 6 साल की बच्ची का हमारी सांस्कृतिक विरासत में खो जाना बहुत कुछ दिखाता है। अन्वी ने मुझे एक फ्रेण्डशिप बैण्ड दिया और कहा कि अब मैं उसका दोस्त हो गया हूं। वह बेहद प्यारी बच्ची है और उसके साथ कुछ वक्त बिताने का अनुभव बेहद दिल को छू लेने वाला रहा।’’

दिल्ली की 6 साल की अन्वी ने सेट पर सबका दिल जीत लिया और उसने अपनी इच्छा बताई कि बड़ी होकर वह सीता की तरत मजबूत महिला बनना चाहती है।