गोंडा डीएम का रसोइयों को तोहफा, एक करोड़ चौतीस लाख रूपए के आहरण की स्वीकृति

लखनऊ। यूपी के गोंडा जिले के डीएम आशुतोष निरंजन के प्रयासों से जनपद के प्राथमिक विद्यालयों एवं पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में कार्यरत रसोइयों के मानदेय हेतु शासन द्वारा दो करोड़ बारह लाख चाौवन हजार रूपए की धनराशि प्राप्त हो गई है। डीएम आशुतोष निरंजन ने प्राप्त सूची के अनुसार रसोइयों के मानदेय तत्काल भुगतान करने हेतु जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश देते हुए रसोइयों के मानदेय हेतु एक करोड़ चैातीस लाख चालीस हजार रूपए के आहरण की स्वीकृति दे दी है जिसे ‘‘मध्यान्ह भोजन निधि’’ खाते में स्थानान्तरित कर दिया गया है।

 

gonda-news

डीएम ने भारत खबर से हुई बातचीत में बताया कि पूर्व आहरण के पश्चात शेष बची हुई धनराशि सत्ताइस लाख सत्तान्नवे हजार को मिलाकर एमडीएम खाते(रसोइया मानदेय) में कुल दो करोड़ चालीस लाख इक्यावन हजार रूपए की धनराशि हो गई है जिसमें रसोइयों की प्राप्त सूची के अनुसार एक करोड़ चैातीस लाख चालीस हजार रूपए तत्काल प्रभाव से रसोइयों को दिए जाने के निर्देश दिए गए हैं। वहीं अनुदान संख्या के तहत अनुसूचित जाति के रसोइयों के मानदेय के मद में इक्यावन लाख तीस हजार रूपए की भी धनराशि प्राप्त हो गई है जिसमें से प्राप्त सूची के अनुसार अनुसूचित जाति के रसोइयों के मानदेय हेतु ग्यारह लाख बहत्तर हजार रूपए की मानदेय राशि तत्काल अवमुक्त कर दी गई है।

डीएम निरंजन ने यह भी बताया कि एमडीएम हेतु कन्वर्जन कास्ट प्राथमिक विद्यालय के मद में दो करोड़ बत्तीस लाख रूपए तथा पूर्व माध्यमिक विद्यालयों हेतु एक करोड़ सत्रह लाख रूपए सहित कुल तीन करोड़ पचास लाख रूपए की धनराशि एमडीएम हेतु मध्यान्ह भोजन निधि के खाते में भेज दी गई है। डीएम निरंजन ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को बिना किसी विलम्ब के रसोइयों को मानदेय निर्गत करने के आदेश दिए हैं।