दलित युवक के शव के अंतिम संस्कार से परिवार का इनकार

चंडीगढ़| पंजाब के मनसा जिले में बेरहमी से मार डाले गए एक 20 वर्षीय दलित युवक के परिवार ने बुधवार को शव का अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया। परिवार उसके लापता पैर तलाशने और हमलावरों की गिरफ्तारी की मांग कर रहा है। मारे गए दलित युवक का नाम सुखचैन सिंह था। कथित तौर पर यहां से करीब 250 किमी दूर मनसा इलाके में वह अवैध शराब के कारोबार से जुड़े एक गिरोह का सदस्य था।उसकी हत्या का आरोप प्रतिद्वंद्वी गिरोह पर लगाया गया है। सोमवार रात घटी इस घटना में आरोपियों ने उसका पैर काट कर दूर फेंक दिया।

dead

युवक के परिवार ने कहा कि हमला करने वाले ऊंची जाति के जमीदार परिवार से हैं और पंजाब पुलिस उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही है, क्योंकि वे ज्यादा पहुंच वाले हैं। पीड़ित के पिता रेशम सिंह ने कहा कि उनके बेटे को पहले प्रतिद्वंद्वी गिरोह ने धमकी दी थी।एक अन्य दलित भीम टैंक पर एक अन्य शराब गिरोह ने बीते साल फजिल्का जिले में हमला किया था। उसके अंग काट दिए गए थे, और बाद में उसकी मौत हो गई थी।

सत्तारूढ़ अकाली दल के एक प्रमुख नेता शिव लाल डोडा के आदमियों के इस हमले में शामिल होने का आरोप था, जो उनके फार्महाउस में हुआ था।